-पूरा गड़रिया और स्वराजनगर में दो दिन से पेयजल आपूर्ति ठप

-आरओ प्लांट वाले जलकल से कनेक्शन लेकर कर रहे व्यापार

-इलाके में एक दर्जन से अधिक हैंडपंप भी नहीं कर रहे हैं काम

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: गर्मी की शुरुआत के साथ शहर के विभिन्न इलाकों में लोगों को पीने के लिए पानी नहीं मिल रहा है. वहीं कुछ लोग जलकल के कनेक्शन से पानी का व्यापार कर रहे हैं. शिवकुटी इलाके में स्थित इंजीनियरिंग कॉलेज क्षेत्र वार्ड के पूरा गड़रिया और स्वराजनगर में पिछले दो दिन से लोगों को पीने का पानी नहीं मिल रहा है. इसके लिए ट्यूबवेल खराब होने की बात कही जा रही है.

अचानक खराब हुए दोनों ट्यूबवेल

इंजीनिय¨रग कालेज वार्ड के पूरा गड़ेरिया में अलका पब्लिक स्कूल के सामने और थाने के आगे ट्यूबवेल लगे हैं. इससे करीब 300 घरों में पेयजल आपूर्ति होती है. शुक्रवार को दोनों ट्यूबवेल अचानक एक साथ खराब हो गए. इसकी वजह से आपूर्ति ठप हो गई. ट्यूबवेल खराब होने की शिकायत जलकल के अधिकारियों से की गई.

सेटिंग से लगाया आरओ प्लांट

स्वराजनगर के बैराना इलाके में पिछले कई दिनों से पेयजल आपूर्ति ठप है. पाइप लाइन बिछा होने के बाद भी लोगों के घरों तक पानी नहीं पहुंच पाता है. लोगों का आरोप है कि एक व्यक्ति ने जल कल विभाग से सेटिंग कर आरओ प्लांट लगा रखा है. इसीलिए लोगों के घरों तक पानी नहीं पहुंच पाता है.

पूरा गड़रिया इलाके में पिछले कई दिनों से पानी की समस्या बनी हुई है. ओवर ब्रिज बनाने के लिए कई घरों की पाइप लाइन तोड़ दी गई है. अब पानी के लिए हम लोगों को भटकना पड़ रहा है.

पार्वती देवी

तीन-चार दिनों से सुबह-शाम कुछ देर के लिए ही पानी मिल रहा था. शुक्रवार की रात में नलकूप ही खराब हो गया. शनिवार को दोपहर बाद तक ट्यूबवेल की मरम्मत नहीं हो सकी थी.

कल्लू भारतीया

पानी की सबसे अधिक समस्या स्वराजनगर में है. यहां करीब सौ से अधिक परिवारों को पानी नहीं मिल पा रहा है. एक-दो दिन बाद ही परिवार में शादी है. अगर यही स्थिति रही तो काफी दिक्कत होगी.

सिमला देवी

पाइप से पानी नहीं मिलता है, वहीं हैंडपंप भी खराब है. हैंडपंप ठीक हो जाए, तो समस्या काफी कम हो जाए.

श्याम पती

जलकल वालों की लापरवाही से समस्या बनी हुई है. अधिकारी शिकायत के बाद भी सुनते नहीं हैं.

तोते लाल

ट्यूबवेल खराब होने से सैकड़ो घरों में पानी की समस्या उत्पन्न हो गई है. इसकी शिकायत जलकल विभाग के अधिकारियों से की गई है. लेकिन अभी तक समस्या दूर नहीं हो सकी है.

मीरा देवी

पार्षद वार्ड-5

इंजीनियरिंग कॉलेज क्षेत्र