अनफिट ट्रेनों की सवारी कहीं पड़ न जाएं भारी

By: Inextlive | Publish Date: Wed 15-Nov-2017 05:01:02   |  Modified Date: Wed 15-Nov-2017 05:04:04
A- A+
अनफिट ट्रेनों की सवारी कहीं पड़ न जाएं भारी
- फॉग वेदर में गाडि़यों की लेटलतीफी से रेलवे के फिटनेस पर भी दिखने लगा है असर - ट्रेनों का टाइम मेंटेन करने के चक्कर में नहीं हो पा रहा मेंटेनेंस का काम

varanasi@inext.co.in

varanasi

 

'अनफिट ट्रेनों की सवारी कहीं पड़ न जाएं भारी ' ये लाइन रेलवे की कलई खोलने के लिए काफी है. कागजों पर सेफ्टी के नाम पर दिखने वाले दावे हकीकत से बहुत दूर हैं. वजह जो भी हो, लेकिन इसका खामियाजा पैसेंजर्स को चुकाना पड़ सकता है. बहरहाल, इन दिनों कोहरे के चलते ट्रेनों पर पड़ रही लेटलतीफी की मार का असर गाडि़यों के फिटनेस पर भी दिखने लगा है. क्योकि पंक्चूअलिटी मेन्टेन करने के फेर में नियमों के तहत उनका पूरी तरह से फिटनेस नहीं हो पा रहा है. हालांकि इसके मद्देनजर अब रेलवे ने विलम्ब से चलने वाली ट्रेनों को फिटनेस में पूरा समय देने के लिए उन्हें कैंसिल करना भी शुरू कर दिया है.

 

 

बदल गया ड्यूटी रोस्टर

फॉग वेदर में लेट से आने वाली ट्रेनों के चलते मैकेनिकल डिपार्टमेंट के कर्मचारियों का ड्यूटी रोस्टर ही बदल गया है. दरअसल, फिटनेस वर्क के लिए ट्रेनों के शेड्यूल के हिसाब से टैक्निशियन और मैकेनिकल स्टॉफ से वर्क लिया जा रहा है. जो पहले शिफ्ट वाइज ड्यूटी करते थे. ये हाल कैट रेलवे स्टेशन ही नहीं बल्कि मंडुवाडीह रेलवे स्टेशन कोच डिपो आफिस में दिखने लगा है.

 

क्या है रूल : -

फिटनेस वर्क

 

- फिटनेस क्लियरेंस के लिए ट्रेनों का शंटिंग वर्क जरूरी

- हर बोगियों में वॉटरिंग जरुरी

- सेकेंड्री मैन्टेनेंस भी है जरुरी पार्ट

- वायरिंग और इलेक्ट्रिक वर्क की रेगुलर चेकअप

- कोच कपलिंग चेकिंग है रुटीन वर्क

- ओवर ऑल टेस्टिंग के बाद टैक्निशियन से मिलता है क्लियरेंस

 

 

हाईलाइटर

- फ् घंटे प्राइमरी मैन्टेनेंस के लिए

- म् घंटे टर्मिनल ट्रेनों के मैन्टेनेंस के लिए

- म्क्0 कर्मचारी है सीडीओ में स्वीकृत

- ब्80 कर्मचारी ही मौजूदा समय में दे रहे सेवा

- 07 प्राइमरी ट्रेनें हैं कैंट स्टेशन के पास

- ख्भ् टर्मिनल ट्रेनों की करनी पड़ती है फिटनेस

 

आफिसियल वर्जन

कर्मचारियों के वर्किंग शेड्यूल में बदलाव कर उनसे काम लिया जा रहा है. वहीं फिटनेस को पूरा समय देने के लिए ट्रेनें कैंसिल भी की जा रही हैं.

राजीव कुमार, सीडीओ, कैंट स्टेशन

 

एक्सपर्ट वर्जन

सेफ्टी के प्वाइंट ऑफ वे से मैन्टेनेंस के रुल को फॉलो करना जरुरी है. ऐसा न होने पर गाडि़यां कभी भी हादसे का शिकार हो सकती है.

शिवेन्द्र सिंह, रिटायर्ड एएमई

 

 

मंगलवार को कैंट स्टेशन से कैंसिल ट्रेनों की लिस्ट

- डाउन पंजाब मेल एक्सप्रेस

- डाउन हिमगिरी एक्सप्रेस

- अप स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस

- डाउन मरुधर एक्सप्रेस

- अप मरुधर एक्सप्रेस

 

ये रहीं लेट

- 09 घंटे लेट अर्चना एक्सप्रेस

- 09 घंटे लेट डाउन स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस

- क्ब् घंटे अप सियालदाह एक्सप्रेस

- क्ब् घंटे मालदा - हरिद्वार एक्सप्रेस

- क्ब् घंटे कोटा - पटना एक्सप्रेस

- 0ब् घंटे लेट बरेली एक्सप्रेस

- 08 गरीब रथ एक्सप्रेस

- 0ब् घंटे बेगमपुरा एक्सप्रेस

- 0भ् घंटे अप श्रमजीवी एक्सप्रेस

- 0भ् काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस