-बैरियर टू चौकी के पास रोडवेज बस की टक्कर से साइकिल सवार की मौत

-गुस्साए परिजनों ने शव रखकर लगाया जाम, बस में की तोड़फोड़

BAREILLY: इज्जतनगर में बैरियर टू चौकी के पास तेज रफ्तार परिवहन निगम बस की टक्कर से साइकिल सवार की मौत हो गई. हादसे के बाद सड़क पर जमकर बवाल हुआ. गुस्साए परिजनों ने शव सड़क पर रखकर जाम लगा दिया और बस में जमकर तोड़फोड़ की. परिजनों ने बस में आग लगाने की भी कोशिश की, लेकिन पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले को संभाल लिया. करीब डेढ़ घंटे तक हाइवे जाम हो गया, जिससे आम पब्लिक को काफी परेशानी हुई. सीओ सिटी फ‌र्स्ट ने परिजनों को आश्वासन देकर मामले को शांत किया. पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर बस ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है.

बरेली से जा रही थी बस

45 वर्षीय अनवार खां उर्फ रिजवान खजुरिया घाट का रहने वाला था. उसके परिवार में पत्‍‌नी नाजिरा और 5 बच्चे हैं. अनवार, थर्सडे सुबह महानगर में काम के लिए निकला था. जैसे ही वह बैरियर टू चौकी के पास पहुंचा तो सामने से टनकपुर जा रही बरेली डिपो की बस ने टक्कर मार दी. टक्कर लगने से अनवार बस के अगले पहिए के नीचे आ गया और उसकी मौके पर मौत हो गई. जैसे ही गांव वालों को सूचना मिली तो सब मौके पर पहुंच गए और ड्राइवर को पकड़ लिया और उसकी जमकर पिटाई की. जिसके बाद लोगों ने बस पर पथराव कर दिया और उसके शीशे तोड़ दिए और जाम लगा दिया. जिसके बाद पुलिस ने हल्का बल भी प्रयोग किया. पुलिस गिरफ्त में आए ड्राइवर की पहचान तिकुनिया निवासी धर्मेद्र के रूप में हुई है. पुलिस ने बेटे फहीम खां की तहरीर पर एफआईआर दर्ज कर ली है.

2------------------------

ट्रेन से कटकर युवक की मौत

सुभाषनगर थाना अंतर्गत रेलवे यार्ड के पास ट्रेन से कटकर अमरिया पीलीभीत निवासी राजकुमार गुप्ता की मौत हो गई. जीआरपी को सूचना दी गई, लेकिन उसने अपना एरिया होने से इनकार कर दिया, जिसके बाद सुभाषनगर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. राजकुमार की परचून की दुकान है. थर्सडे सुबह पत्‍‌नी सुनीता और बच्चे किसी काम से घर से बाहर गए हुए थे. इसी दौरान वह घर से निकल गए और बरेली पहुंच गए. सुबह करीब 9 बजे राजकुमार ने किसी पैसेंजर के मोबाइल से अपनी मौसी को फोन किया कि वह बरेली जंक्शन पर हैं और फिर फोन कट गया. कुछ देर बाद राजकुमार की ट्रेन से कटकर मौत होने की सूचना मिली. पुलिस का मानना कि हो सकता है कि राजकुमार ने सुसाइड किया हो, लेकिन परिजनों ने इससे साफ इनकार कर दिया.