एडीजी ने मकर संक्रांति व मौनी अमावस्या को देखते हुए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के दिए निर्देश

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: मकर संक्रांति और मौनी अमावस्या स्नान पर्व को देखते हुए माघ मेले में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है. इसके अलावा अस्थाई रूप से रह रहे करीब 35 हजार लोगों का वेरीफिकेशन किया गया है. ताकि किसी अनहोनी या अन्य जरूरत पर उनके बारे में पूरी जानकारी उपलब्ध रहे. इसमें कल्पवासी, दुकानदार, कारोबारी, भिखारी, और दूसरे अन्य लोग शामिल हैं. इन सभी के नाम, मोबाइल नंबर, फोटो, पहचान पत्र और पते की जानकारी पुलिस ने मेले से पूर्व रजिस्टर में दर्ज कर चुकी है.

अतिरिक्त फोर्स का इंतजाम

इसके अलावा क्राउड मैनेजमेंट को बेहतर करते हुए अतिरिक्त फोर्स लगा दी गई है. जोन से 30 थानाध्यक्ष, सीओ और एक कंपनी पीएसी अलग से मंगाई गई है. मुख्य स्नान पर्व पर गंगा के फाफामऊ, झूंसी और यमुना के नए पुल पर भी पुलिस फोर्स की व्यवस्था की गई है. एंट्री प्वॉइंट पर भी बैरीकेडिंग और पीएसी के सशस्त्र जवानों की ड्यूटी लगाई गई है. शुक्रवार को एडीजी एसएन साबत, आइजी रमित शर्मा और एसएसपी आकाश कुलहरि ने पुलिसकर्मियों की ब्रीफिंग की. फोर्स को बताया गया कि उन्हें हर पल सतर्क रहना है और संदिग्ध लोगों पर खास नजर रखनी है. माघ मेला एसपी नीरज पांडेय ने कंट्रोल रूम, सीसीटीवी और वॉच टावर के जरिए की जाने वाली निगरानी के बारे में उच्चाधिकारियों को जानकारी दी. स्नानार्थियों की भीड़ को देखते हुए प्रभारी जल पुलिस कड़ेदीन यादव ने भी घाटों पर बैरीकेडिंग को मजबूत करते हुए जवानों और गोताखोरों को खास नजर रखने का निर्देश दिया है.