- टोल प्लाजा के सीसीटीवी कैमरों से कनेक्ट रहेगा सर्वर

- परमिट, टैक्स कोई कमी होने पर होगी कार्रवाई

BAREILLY:

परिवहन विभाग शीघ्र ही डिजिटल निगरानी की व्यवस्था शुरू करने जा रहा है. इससे बिना परमिट, बिना टैक्स वाले वाहन तत्काल पकड़ में आ जाएंगे. ऐसे वाहनों का ऑनलाइन चालान भी किया जा सकेगा. इसके लिए टोल प्लाजा के सीसीटीवी कैमरा और परिवहन विभाग के सिस्टम को जोड़ा जाएगा. इस नई व्यवस्था के लिए विभाग एक मई से सारथी-4 शुरू करने जा रहा है.

नई व्यवस्था से पहले 27 से सर्वर रहेंगे बंद

सिस्टम को अपग्रेड बनाने का काम तेजी से चल रहा है. नया सॉफ्टवेयर अपग्रेड करने लिए कुछ दिनों के लिए विभाग के सर्वर बंद रहेंगे. एआरटीओ प्रशासन आरपी सिंह ने बताया कि 27 अप्रैल से सर्वर बंद भी रहेगा. एक मई से सारथी-4 के तहत कार्य शुरू कर दिए जाएंगे. सारथी-4 में वाहनों की ऑनलाइन निगरानी की जा सकती है. टोल प्लाजा के सीसीटीवी कैमरों को परिवहन विभाग के सर्वर को जोड़ा जाएगा. जिस मार्ग पर टोल प्लाजा नहीं होगा, वहां सीमा क्षेत्र व प्रमुख मार्गो पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे.

कैमरे के रिकॉर्ड के आधार पर हाेगी कार्रवाई

सीसीटीवी कैमरे से वाहनों का नंबर लेकर सर्वर को भेज देगा. सर्वर वाहनों के रिकॉर्ड की जांच करेगा. वाहन का टैक्स, फिटनेस प्रमाण पत्र, परमिट आदि की जानकारी उपलब्ध हो जाएगी. कोई कमी होने पर आरटीओ इंफोर्समेंट टीम वाहन को पकड़ लेगा. अधिकारियों ने बताया कि अगले चरण में ओवरलोड वाहन के बारे में भी जानकारी की जा सकेगी. इस नई व्यवस्था से विभाग के साथ वाहन मालिक को भी काफी फायदा मिलेगा.

ऑनलाइन मिलेगी कई सारी सुविधाएं

इस नई व्यवस्था से अधिकांश परिवहन विभाग के ऑफिस आपस में जुड़ जाएंगे. वाहन मालिक कहीं से शुल्क जमा करा सकते हैं. ड्राइविंग लाइसेंस व अन्य कार्य के लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है. वहीं आरसी शोरूम से ही वाहन मालिक को मिल सकेगी. ऑनलाइन जुर्माना जमा कर वाहनों को छुड़वा भी सकते हैं.

इससे सुविधा से एक फायदा यह होगा कि अनफिट वाहन रोड पर नहीं चल सकेंगे. अभी तक हर एक गाड़ी की जांच कर पाना सम्भव नहीं हो पाता है. 1 मई से नई व्यवस्था शुरू कर दी जाएगी.

आरपी सिंह, एआरटीओ प्रशासन