गैरसैंण में विधानसभा सत्र आज से

By: Inextlive | Publish Date: Thu 07-Dec-2017 04:00:35
A- A+

- आज से 5ाराड़ीसैंण (गैरसैंण)में शुरू होगा विधानस5ा सत्र, सरकार को घेरने के लिए विपक्ष तैयार

- सत्र के पहले ही दिन सदन में प्रस्तुत होगा अनुपूरक बजट, कई विधेयकों पर निगाहें

>DEHRADUN: उत्तरा2ांड विधानस5ा का शीतकालीन सत्र चमोली जिले के 5ाराड़ीसैंण (गैरसैंण) में गुरुवार सुबह से शुरू होगा। गैरसैंण के नाम पर चल रही राजनीति के बीच कड़ाके की सर्दी में आयोजित होने वाले सत्र के 2ासे गरमानेआसार हैं। विपक्ष ने सरकार को घेरने की पूरी तैयारी कर ली है। वहीं सत्तापक्ष 5ाी पूरी रणनीति के साथ सदन में उतरेगा। 2ास बात यह है कि इस बार गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी का दर्जा दिए जाने व विधानस5ा में लंबित लोकायुक्त व ट्रांसफर विधेयक को लेकर सबकी निगाहें टिकी हुई हैं। माना जा रहा है कि सत्र के पहले ही दिन सरकार सदन में अनुपूरक बजट सदन में र2ोगी।

विपक्ष घेराबंदी के लिए तैयार

शीतकालीन सत्र गैरसैंणा(भराड़ीसैंण) में गुरुवार से शुरू होगा। बुधवार को नेता प्रतिपक्ष डॉ। इंदिरा हृदयेश भी गैरसैंण में हुई कार्य मंत्रणा समिति की बैठक में शामिल हुई। लेकिन विपक्ष सरकार की घेराबंदी की तैयारियों में जुट गया है। विपक्ष निकायों के विस्तारीकरण व निकायों के परिसीमन को लेकर सरकार की मनमानी, प्राथमिक स्कूलों के शिक्षकों पर जबरन ब्रिज कोर्स थोपने, महंगाई, स्वास्थ्य व कानून व्यवस्था को लेकर सरकार को घेरेगी। साथ ही प्रदेश में लोकायुक्त व तबादला कानून लागू न करना जैसे मुद्दे प्रमुख माने जा रहे हैं। इसके अलावा विपक्ष विशिष्ट बीटीसी प्रशिक्षित शिक्षकों के आक्रोश व राज्य कर्मचारियों के आंदोलन के रूप में कार्मिक नाराजगी जैसे मुद्दे पर भी सरकार के घेरने की तैयारी कर रहा है।

1050 सवाल पहुंचे इस बार

शीतकालीन सत्र में इस बार सवालों की झडि़यां लगी हैं। अब तक सभी विधायकों के 1050 से ज्यादा सवाल हासिल हो चुके हैं। लोकायुक्त विधेयक व तबादला विधेयक के अलावा, उलराखंड दुकान व उलराखंड नगर निकाय अधिनियम 1959 (संशोधित अध्यादेश) समेत कुछ अन्य विधेयक सत्र में पेश किए जा सकते हैं।

गैरसैंण पहुंचे मंत्री व अधिकारी

विधानसभा सत्र के लिए बुधवार को राज्य के कैबिनेट व राज्य मंत्री सहित प्रदेश सरकार के तमाम अधिकारी गैरसैंण पहुंच गए हैं। बुधवार को दोपहर दो बजे से पूर्व हवाई सेवा से तीन राउंड में पर्यटन मंत्री, संसदीय एवं विल मंत्री, समाजकल्याण व आपदा मंत्री यशपाल आर्य, कृषि व वन मंत्री डॉ। हरक सिंह रावत के अलावा विभागीय सचिव देहरादून से गौचर हवाई पट्टी पर उतरे, जहां से वे गैरसैंण को रवाना हो गए।

स्थाई राजधानी बने गैरसैंण

यूकेडी ने गैरसैंण में आयोजित विधानसभा सत्र के दौरान ही गैरसैंण को स्थाई राजधानी घोषित करने की मांग पहले ही सरकार से की है। बुधवार को गोपेश्वर जिला पंचायत सभागार में यूकेडी की बैठक में जनपक्षीय मुद्दों को लेकर आंदोलन चलाने की बात कही गई।

गैरसैंण में आज भरेंगे हुंकार

11 मांगों पर प्रदेश सरकार द्वारा सकारात्मक कार्यवाही न किए जाने के विरोध में चिन्हित राज्य आंदोलनकारी समिति के बैनर तले राज्य निर्माण आंदोलनकारी सात दिसम्बर को गैरसैंण में हुंकार भरेंगे। समिति के केंद्रीय अध्यक्ष जेपी पांडे ने बुधवार को श्रीनगर में पत्रकारों से बातचीत में दावा करते कहा कि गैरसैंण में विधानसभा का घेराव करने के साथ ही आंदोलनकारी विधानसभा सत्र को भी नहीं चलने देंगे।

गैरसैंण्ा में फुल प्रूफ सुरक्षा

सत्र को देखते हुए गैरसैंण में फुलप्रूफ सुरक्षा व्यवस्था की गई है। पुलिस उप महानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र पुष्पक ज्योति ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए बताया कि गैरसैंण को दो जोन व छह सेक्टर में बांटा गया है। सत्र के दौरान ड्यूटी में पांच अपर पुलिस अधीक्षक, सात पुलिस उपाधीक्षक, 17 निरीक्षक लगाए गए हैं। इसके अलावा 60 उप निरीक्षक, आठ महिला उप निरीक्षक, 45 हेड कांस्टेबल, 283 सिविल पुलिस के जवान, 38 महिला कांस्टेबल, तीन कंपनी पुरुष पीएसी, दो प्लाटून महिला पीएसी, दो टीम क्यूआरटी ,दो टीम आतंकवादी निरोधक दस्ता, एसडीआरएफ, 80 होम गार्ड, 80 एलआईयू के अधिकारी, 35 फायरमैन व चमोली की पुलिस को तैनात किया गया है।

inextlive from Dehradun News Desk