सिल्‍वर स्‍क्रीन पर गांधी, नेहरू के बाद अब लालू, 7 मौके जब पॉलिटीशियनों पर बनी बॉलीवुड फिल्‍में

By: Inextlive | Publish Date: Fri 08-Sep-2017 12:45:00
A- A+
सिल्‍वर स्‍क्रीन पर गांधी, नेहरू के बाद अब लालू, 7 मौके जब पॉलिटीशियनों पर बनी बॉलीवुड फिल्‍में
जल्द ही फिल्म 'दशहरा' में अभिनेता गोविंद नामदेव बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू प्रसाद यादव से मिलते जुलते किरदार में दिखने वाले हैं। वैसे ये पहला मौका नहीं है जब कोई बॉलीवुड फिल्‍म भारतीय राजनेताओं पर आधारित या उनसे इंस्‍पायर हो कर बनाई गई हो। आइये जाने ऐसी ही कुछ फिल्‍मों के बारे में जिनके केंद्रीय चरित्र या तो राजनीति के धुरंधरों पर आधारित थे या या कहानी और चरित्र उनसे इंस्‍पायर थे।

'गांधी' 
वैसे महात्मा गांधी पर बनी फिल्‍म गांधी एक ब्रिटिश-इंडियन फिल्म थी, जिसे रिचर्ड एटनबरो ने डायरेक्ट किया था। फिल्‍म पूरी तरह गांधी जी के जीवन पर आधारित थी जिसमें उनकी राजनीतिक यात्रा की शुरूआत से लेकर हत्‍या तक की हर घटना का वर्णन किया गया था। इस फिल्‍म को कई अकादमी पुरस्‍कार मिले थे। इस फिल्‍म में गांधी की बेन किंग्सले ने निभाई थी, जबकि कस्तूरबा गांधी का रोल रोहिणी हट्टगड़ी, वल्लभभाई पटेल का रोल सईद ज़ाफरी और नेहरु का रोल रोशन सेठ ने निभाया था। गांधी जी पर आधारित दूसरी बॉलीवुड फिल्‍मों में गांधी माय फादर, मैंने गांधी को नहीं मारा, हे राम जैसी फिल्मों के नाम प्रमुखता से लिए जाते हैं।

'नौनिहाल'
हालाकि 1967 में आई फिल्‍म भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू से सीधे सीधे रिलेटेड नहीं थी पर फिल्‍म की कहानी उनके इर्द गिर्द ही घूमती है और उनकी मृत्‍यु पर जाकर खत्‍म होती है। फिल्‍म का मुख्‍य किरदार राजू नाम का एक अनाथ बच्‍चा है जो एक परिवार द्वारा गोद लिया जाता है लेकिन राजू को लगता है कि उसके वास्‍तविक पिता समान व्‍यक्‍ति एक ही हैं पंड़ित नेहरू और उसके साथ उसका उनसे मिलने का संघर्ष शुरू होता है जो उनकी अंतिम यात्रा में शामिल होने पर जाकर खत्‍म होता है। फिल्‍म का गीत मेरी आवाज सुनो प्‍यार का राज सुनो काफी मशहूर हुआ था। 

'आंधी' 
यूं तो भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी से प्रभावित होकर भी कई फिल्‍में बनी हैं। जिसमें खासतौर पर किस्‍सा कुर्सी का काफी चर्चित और विवादित फिल्‍म रही है। लेकिन जो फिल्म उनके व्‍यक्‍तिव के भावनात्‍मक पहलु को लेकर बनी होने का दावा किया जाता है वो थी 1975 में आयी 'आंधी' गुलज़ार ने डायरेक्टर किया था। फिल्‍म को इंदरा जी के वैवाहिक जीवन से इंस्‍पायर बताया था। 

'सरदार' 
साल 1993 में सरदार वल्लभभाई पटेल के जीवन पर आधारित फिल्‍म सरदार रिलीज हुई जिसे डायरेक्टर केतन मेहता ने र्निदेशित किया था। फिल्‍म में परेश रावल ने सरदार पटेल की भूमिका निभाई थी। इस फिल्म में टॉम आल्टर, एम के रैना, रघुवीर यादव भी महत्‍वपूर्ण भूमिकाओं में नजर आए थे। 
बॉलीवुड अभिनेता जब बने विलेन

'बोस- द फॉरगॉटन हीरो' 
2004 में आयी श्याम बेनेगल नेताजी सुभाष चन्द्र बोस पर ये बेहतरीन फिल्म बनाई थी। फिल्‍म में सचिन खेड़ेकर ने बोस का करेक्‍टर प्‍ले किया था। फिल्म का संगीत ए आर रहमान ने दिया था। इसे मूवी को बेस्ट फिल्म का नेशनल अवॉर्ड भी मिला। फिल्म बोस के गांधी जी से मतभेद और उनके जर्मनी जाने से लेकर इंडियन नेशनल आर्मी (आईएनए) के गठन तक की कहानी और उन्‍हें वापस भारत लाने की ब्रिटिश आर्मी के प्रयासों तक की दास्‍तान सुनाती है। 
कभी राम रहीम का मजाक उड़ाने पर गया जेल, अब किया यह कमेंट

'रक्‍त चरित' 
रामगोपाल वर्मा ने दो फिल्‍मों के सीक्‍वल में फिल्‍म रक्‍त चरित्र बनाई। कहते ये फिल्‍म तेलुगुदेशम पार्टी के नेता परितला रविंद्र से इंस्‍पायर थी। परितला रविंद्र की पॉपुलेरिटी और राजनीतिक जीवन को गहराई से देखने के बाद बॉलीवुड फिल्‍म मेकर रामगोपाल वर्मा ने इन पर फिल्‍म बना डाली। इस फिल्‍म में विवेक ओबेरॉय, सूर्या और शत्रुघ्न सिन्हा मुख्‍य भसूमिकाओं में हैं। हालांकि फिल्‍म को पूरे देश में पंसद किया गया था लेकिन आंध्र प्रदेश में परितला रविंद्र के समर्थकों ने इसे सर्मथन दिया वहीं एक अन्‍य राजनेता सूर्यनारायण रेड्डी के समर्थकों ने इसका विरोध भी किया था।

'सरकार'
राम गोपाल वर्मा ने ही हाल में सरकार 3 रिलीज की है। तीन फिल्‍मों की श्रंखला में बनी सरकार फिल्‍म में अमिताभ बच्‍चन का मुख्‍य किरदार है, जिसका नाम सुभाष नागरे है। ऐसा कहा जाता है कि सुभाष नागरे का किरदार महाराष्‍ट्र के कद्दावर नेता बाला साहब ठाकरे के चरित्र से इंस्‍पायर है। उसमें उनके दो बेटों और परिवार के अन्‍य सदस्‍यों से इंस्‍पायर चरित्रों के होने का भी दावा किया गया। फिल्‍म में अभिषेक बच्‍चन भी हैं।  
'गांधी' 

वैसे महात्मा गांधी पर बनी फिल्‍म गांधी एक ब्रिटिश-इंडियन फिल्म थी, जिसे रिचर्ड एटनबरो ने डायरेक्ट किया था। फिल्‍म पूरी तरह गांधी जी के जीवन पर आधारित थी जिसमें उनकी राजनीतिक यात्रा की शुरूआत से लेकर हत्‍या तक की हर घटना का वर्णन किया गया था। इस फिल्‍म को कई अकादमी पुरस्‍कार मिले थे। इस फिल्‍म में गांधी की बेन किंग्सले ने निभाई थी, जबकि कस्तूरबा गांधी का रोल रोहिणी हट्टगड़ी, वल्लभभाई पटेल का रोल सईद ज़ाफरी और नेहरु का रोल रोशन सेठ ने निभाया था। गांधी जी पर आधारित दूसरी बॉलीवुड फिल्‍मों में गांधी माय फादर, मैंने गांधी को नहीं मारा, हे राम जैसी फिल्मों के नाम प्रमुखता से लिए जाते हैं।

'नौनिहाल'

हालाकि 1967 में आई फिल्‍म भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू से सीधे सीधे रिलेटेड नहीं थी पर फिल्‍म की कहानी उनके इर्द गिर्द ही घूमती है और उनकी मृत्‍यु पर जाकर खत्‍म होती है। फिल्‍म का मुख्‍य किरदार राजू नाम का एक अनाथ बच्‍चा है जो एक परिवार द्वारा गोद लिया जाता है लेकिन राजू को लगता है कि उसके वास्‍तविक पिता समान व्‍यक्‍ति एक ही हैं पंड़ित नेहरू और उसके साथ उसका उनसे मिलने का संघर्ष शुरू होता है जो उनकी अंतिम यात्रा में शामिल होने पर जाकर खत्‍म होता है। फिल्‍म का गीत मेरी आवाज सुनो प्‍यार का राज सुनो काफी मशहूर हुआ था। 

'आंधी' 

यूं तो भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी से प्रभावित होकर भी कई फिल्‍में बनी हैं। जिसमें खासतौर पर किस्‍सा कुर्सी का काफी चर्चित और विवादित फिल्‍म रही है। लेकिन जो फिल्म उनके व्‍यक्‍तिव के भावनात्‍मक पहलु को लेकर बनी होने का दावा किया जाता है वो थी 1975 में आयी 'आंधी' गुलज़ार ने डायरेक्टर किया था। फिल्‍म को इंदरा जी के वैवाहिक जीवन से इंस्‍पायर बताया था। 

सितम्‍बर में बॉक्‍स ऑफिस पर नजर आएंगी ये फिल्‍में

'सरदार' 

साल 1993 में सरदार वल्लभभाई पटेल के जीवन पर आधारित फिल्‍म सरदार रिलीज हुई जिसे डायरेक्टर केतन मेहता ने र्निदेशित किया था। फिल्‍म में परेश रावल ने सरदार पटेल की भूमिका निभाई थी। इस फिल्म में टॉम आल्टर, एम के रैना, रघुवीर यादव भी महत्‍वपूर्ण भूमिकाओं में नजर आए थे। 

बॉलीवुड अभिनेता जब बने विलेन

'बोस- द फॉरगॉटन हीरो' 

2004 में आयी श्याम बेनेगल नेताजी सुभाष चन्द्र बोस पर ये बेहतरीन फिल्म बनाई थी। फिल्‍म में सचिन खेड़ेकर ने बोस का करेक्‍टर प्‍ले किया था। फिल्म का संगीत ए आर रहमान ने दिया था। इसे मूवी को बेस्ट फिल्म का नेशनल अवॉर्ड भी मिला। फिल्म बोस के गांधी जी से मतभेद और उनके जर्मनी जाने से लेकर इंडियन नेशनल आर्मी (आईएनए) के गठन तक की कहानी और उन्‍हें वापस भारत लाने की ब्रिटिश आर्मी के प्रयासों तक की दास्‍तान सुनाती है। 

कभी राम रहीम का मजाक उड़ाने पर गया जेल, अब किया यह कमेंट

'रक्‍त चरित' 

रामगोपाल वर्मा ने दो फिल्‍मों के सीक्‍वल में फिल्‍म रक्‍त चरित्र बनाई। कहते ये फिल्‍म तेलुगुदेशम पार्टी के नेता परितला रविंद्र से इंस्‍पायर थी। परितला रविंद्र की पॉपुलेरिटी और राजनीतिक जीवन को गहराई से देखने के बाद बॉलीवुड फिल्‍म मेकर रामगोपाल वर्मा ने इन पर फिल्‍म बना डाली। इस फिल्‍म में विवेक ओबेरॉय, सूर्या और शत्रुघ्न सिन्हा मुख्‍य भसूमिकाओं में हैं। हालांकि फिल्‍म को पूरे देश में पंसद किया गया था लेकिन आंध्र प्रदेश में परितला रविंद्र के समर्थकों ने इसे सर्मथन दिया वहीं एक अन्‍य राजनेता सूर्यनारायण रेड्डी के समर्थकों ने इसका विरोध भी किया था।

'सरकार'

राम गोपाल वर्मा ने ही हाल में सरकार 3 रिलीज की है। तीन फिल्‍मों की श्रंखला में बनी सरकार फिल्‍म में अमिताभ बच्‍चन का मुख्‍य किरदार है, जिसका नाम सुभाष नागरे है। ऐसा कहा जाता है कि सुभाष नागरे का किरदार महाराष्‍ट्र के कद्दावर नेता बाला साहब ठाकरे के चरित्र से इंस्‍पायर है। उसमें उनके दो बेटों और परिवार के अन्‍य सदस्‍यों से इंस्‍पायर चरित्रों के होने का भी दावा किया गया। फिल्‍म में अभिषेक बच्‍चन भी हैं।  

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk