अब इस शहर में 'स्मार्ट' मीटर रोकेंगे फर्जी बिलिंग

By: Inextlive | Publish Date: Thu 11-Jan-2018 12:13:32   |  Modified Date: Thu 11-Jan-2018 12:14:32
A- A+
अब इस शहर में 'स्मार्ट' मीटर रोकेंगे फर्जी बिलिंग
kanpur@inext.co.in KANPUR: स्मार्ट कानपुर में घर में लगे मीटर भी स्मार्ट होंगे. इसके लिए कवायद शुरू कर दी गई है. आने वाले कुछ महीनों में घरों में इसको लगाने की शुरुआत कर दी जाएगी. स्मार्ट सिटी के तहत कानपुर के सभी घरों में इलेक्ट्रिसिटी और वाटर मीटर को बदला जाएगा. यह कई खासियत से लैस होगा. लगाए जाने वाले प्रत्येक मीटर को नया कोड दिया जाएगा, जिसको कमांड सेंटर से कनेक्ट किया जाएगा. विभागों को मिल रही शिकायतों के बाद स्मार्ट सिटी के तहत इन्हें बदलने का फैसला लिया गया है. घर में कोई न हो तो इन मीटर को ऑफ किया जा सकता है. साथ ही इन मीटर्स में फर्जी बिलिंग पर पूरी तरह से रोक लग जाएगी.

..आई एक्सक्लूसिव

-स्मार्ट कानपुर के अंतर्गत घरों में लगाए जाएंगे स्मार्ट मीटर, घर से बाहर जाने पर बंद किए जा सकेंगे मीटर

-वाटर और इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई के लिए लगाए जाएंगे स्मार्ट मीटर, शिकायतों के बाद लिया गया फैसला

-मीटर रीडिंग में नहीं हो सकेगा खेल, मीटर से किया खिलवाड़ तो कंट्रोल रूम में दर्ज हो जाएगी शिकायत

ऑटोमैटिक बिल होगा जेनरेट

शहर में बहुत ही कम लोग हैं जो पानी का बिल जमा करते हैं. जेएनएनयूआरएम में भी वाटर टैक्स को वसूलने के लिए योजना बनाई गई थी, जिसमें घरों में मीटर लगाने के लिए 3 साल पहले प्रस्ताव भेजा गया था. लेकिन अब स्मार्ट सिटी के अंतर्गत स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे. वहीं केस्को अभी तक डिजिटल मीटर ही लगा सका है. इसके बावजूद अब भी शहर के कई इलाकों में बिजली चोरी धड़ल्ले से हो रही है. स्मार्ट मीटर लगने के बाद मीटर से कोई भी छेड़छाड़ नहीं हो सकेगी. वहीं कमांड सेंटर से जुड़ने के बाद वाटर और इलेक्ट्रिसिटी मीटर के जरिए ऑटोमैटिक बिल जेनरेट होगा और घरों में भेज दिया जाएगा.

बंद किए जा सकेंगे मीटर
केस्को के पास अक्सर शिकायतें आती हैं कि घर में कोई नहीं था, लेकिन इसके बाद भी हर महीने की तरह एवरेज बिल आया है. स्मार्ट मीटर से इस समस्या को भी दूर किया जा सकेगा. स्मार्ट मीटर को बंद करते ही पूरे घर की लाइट बंद हो जाएगी और मीटर की रीडिंग वहीं रुक जाएगी. इससे बिलिंग में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी की शिकायत न के बराबर रह जाएगी. वहीं कमांड सेंटर से जुड़ने के बाद इलेक्ट्रिसिटी प्रॉब्लम होने पर ऑटोमैटिक ही गड़बड़ी को दूर करने के लिए कर्मचारी घर आ जाएंगे. वहीं वाटर कनेक्शन में भी यही सिस्टम लागू होगा.

ऑनलाइन जमा करें वाटर टैक्स
अब वाटर टैक्स जमा करने के लिए कानपुराइट्स को न लाइन लगानी पड़ेगी और न कहीं जाना पड़ेगा, अब घर बैठे ही टैक्स को जमा किया जा सकेगा. ई-गवर्नेस के जरिए अब इसकी शुरुआत की जा रही है. ऑनलाइन सिस्टम के लिए सॉफ्टवेयर को तैयार कर लिया गया है. बेनाझाबर स्थित जलकल मुख्यालय में इसका कंट्रोल सर्वर को तैयार कर दिया गया है. 1 करोड़ 5 लाख से इस सिस्टम को डेवलप कर दिया गया है.

अमृत योजना में बढ़ाए जाएंगे उपभोक्ता
केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई अमृत योजना के तहत शहर में वाटर टैक्स जमा करने के लिए उपभोक्ताओं की संख्या को बढ़ाया जाएगा. इसके लिए कार्य योजना तैयार की जा रही है. स्मार्ट सिटी बनने के बाद ऐसे उपभोक्ताओं को चिन्हित किए जाने का कार्य शुरू कर दिया गया है.

फैक्ट्स फाइल

-2.69 लाख लोग जमा करते हैं वाटर टैक्स

-4.63 लाख लोग जमा करते हैं इलेक्ट्रिसिटी का बिल

-6 महीने में शुरू कर दिए जाएगा स्मार्ट मीटर लगाने का कार्य

स्मार्ट सिटी के तहत कानपुर में स्मार्ट वॉटर मीटर लगाए जाएंगे. अमृत योजना में भी वाटर मीटर लगाने का कार्य किया जाना है. जिससे वाटर टैक्स की वसूली में तेजी आएगी. जल्द ही इस कार्य को शुरू किया जाएगा.

-आरके सिंह, प्रभारी, स्मार्ट सिटी.