- चप्पे-चप्पे पर रही पुलिस की पैनी नजर

- शहर में दिनभर जाम के कारण रेंगते रहे वाहन

DEHRADUN: सोमवती अमावस्या के पर्व पर लाखों श्रद्धालुओं ने गंगा में डुबकी लगाकर पुण्य अर्जित किया. ब्रह्म बेला से देर शाम तक हरकी पैड़ी समेत विभिन्न घाटों पर श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ा रहा. इस दौरान प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए थे. शहर में भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक के साथ ही संवेदनशील स्थानों पर पुलिस की तैनाती रही.

सूर्य को दिया अ‌र्घ्य

स्नान के लिए रविवार शाम से हरिद्वार में श्रद्धालुओं के पहुंचने लगे थे. सुबह चार बजे से ही हरकी पैड़ी, सर्वानंद घाट, कुशावर्त घाट, मालवीय घाट, बिरला घाट, अलकनंदा घाट और प्रेमनगर आश्रम समेत विभिन्न घाटों पर श्रद्धालुओं के पहुंचने का सिलसिला आरंभ हो गया. श्रद्धालुओं ने गंगा में स्नान कर पुण्य अर्जित किया. इसके साथ ही गंगा पूजन के साथ सूर्य को अ‌र्घ्य देकर दान आदि भी किया. कनखल के दक्ष मंदिर, सती कुंड, नीलेश्वर महादेव मंदिर, दक्षिण काली मंदिर, मनसा देवी मंदिर और चंडी देवी मंदिर में दर्शनों के लिए कतार लगी रही.

दिनभर रेंगते रहे वाहन

हरिद्वार में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़ के कारण दिनभर जाम की स्थिति बनी रही. जाम से सड़कों पर वाहन रेंगते हुए आगे बढ़े. हरिद्वार के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कृष्ण कुमार वीके ने बताया कि सुरक्षा के मद्देनजर शहर के प्रवेश द्वार पर आने वाले लोगों की सघन तलाशी ली गई और प्रमुख मंदिरों के आसपास पुलिस व पीएसी के जवानों को तैनात किया गया. उन्होंने बताया कि शाम चार बजे तक करीब 24 लाख लोग गंगा में डुबकी लगा चुके थे.