- फिलहाल राज्य सरकार खुद उठायेगी इलाज का खर्च

- इंश्योरेंस कंपनियों के साथ की जा रही बातचीत

DEHRADUN : 9 नवम्बर को अचानक बंद कर दी गई मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना मंगलवार को फौरी तौर पर फिर से शुरू कर दी गई है. हालांकि इस पर आने वाला खर्च फिलहाल कोई बीमा कंपनी नहीं बल्कि खुद राज्य सरकार उठायेगी.

अस्पतालों में पहुंचे आदेश

सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रविवार को इस योजना को फिर से शुरू करने और योजना बंद होने के मामले में दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की घोषणा की थी. सीएम की घोषणा के बाद सोमवार को कई कार्ड धारक अस्पतालों में पहुंचे, लेकिन लिखित आदेश न होने के कारण उनका इस योजना के तहत इलाज नहीं हो सका. मंगलवार को सीएमओ को इस आशय के आदेश मिले. इसके बाद सभी अस्पतालों में फिर से एमएसबीवाई कार्ड धारकों का इलाज शुरू कर दिया गया.

सीएमओ करेंगे अप्रूव

शासन से मिले आदेश के अनुसार एमएसबीवाई कार्ड धारकों को सीएमओ से अप्रूव मिलने के बाद इलाज किया जाएगा. सभी सीएमओ से कहा गया है कि वे इस तरह के मामलों में जल्द से जल्द अप्रूवल दें, ताकि नियमानुसार मरीजों का इलाज किया जा सके.

बीमा कंपनी की तलाश

इस योजना को नियमित रूप से चलाने के लिए शासन द्वारा किसी बीमा कंपनी की तलाश की जा रही है. सूत्रों के अनुसार कुछ बीमा कंपनियों के साथ बातचीत हुई है, लेकिन जब तक बीमा कंपनी से करार नहीं हो जाता, तब तक राज्य सरकार स्वयं कार्ड धारक मरीजों के इलाज पर खर्च होने वाली धनराशि वहन करेगी.

शासन की ओर से एमएसबीवाई के संबंध में आदेश मिल गये हैं और इसके साथ ही मरीजों का इलाज शुरू कर दिया गया है. अप्रूव करने की कार्रवाई जल्द से जल्द की जाएगी.

डॉ. वाईएस थपलियाल, सीएमओ, देहरादून.