तालाब में ट्यूब की निकली हवा, डूबा छात्र

By: Inextlive | Publish Date: Sat 12-Aug-2017 07:40:07
A- A+

JAMSHEDPUR : परसुडीह झारखंड नगर निवासी शिवनाथ पात्रो के क्0 वर्षीय पुत्र भीम पात्रो की बागबेड़ा नागाडीह के बोदरा टोला तालाब में शरीर में टयूब फंसा उतरा। पानी में वह अठखेलियां करता रहा। इस बीच टयूब की हवा खुल गई और वह पानी की गहराई में डूबते चला गया। वहां कपड़े धो रही दो महिलाओं ने शोर मचाकर ग्रामीणों को बुलाया। उसे बचाने को दो- तीन ग्रामीण तालाब में घुसे, लेकिन उसका कोई अता- पता नही चल पाया। घटना शुक्रवार दोपहर ख्.फ्0 बजे की है। जुस्को के गोताखोर की मदद से शाम साढ़े छह बजे शव को बाहर निकाला जा सका। लोगों की भीड़ तालाब पर लगी रही। भीम का कपड़ा तालाब किनारे रखा पाया गया। अपने तीन भाई- बहन में भीम सबसे छोटा था। वह श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्कूल में क्लास थ्री में पढ़ाई करता था। झारखंड बस्ती की सामाजिक कार्यकर्ता मोनू दास ने बताया कि स्कूल से छुट्टी के बाद भीम पात्रो सुबह क्क्.फ्0 बजे घर आया। नहाने- खाने के बाद अपने तीन सहयोगी हिमांशु साहू, आशीष और सोनू लोहार के साथ तालाब में नहाने गया था। इनमें सबसे छोटा आशीष कुमार है। फ्.फ्0 बजे यह फोन से यह सूचना आई कि झारखंड नगर का कोई बच्चा डूब गया है। हिमांशु की मां से पूछा गया कि हिमांशु कहा है पता चला कि वह घर पर नही है धीरे- धीरे ये जानकारी हुई कि भीम, आशीष और सोनू भी घर पर नही है। सभी की खोज की गई। तालाब की ओर बस्ती के लोग पहुंचे। रास्ते में ही भीम की बहन भी मिल गई। उसे भी साथ लेकर गए। तालाब के सामने पड़ी कपड़े की पहचान भीम की बहन ने की। बच्चों की खोज होने पर सभी को खासमहल श्यामा प्रसाद कॉलेज के पास छुपा देखा गया। हिमांशु साव ने बताया वे सभी घर से खेलने के बहाने निकले। कभी- कभी छुपकर तालाब में नहाने भी चले जाते थे। शुक्रवार को भी ऐसा ही हुआ ा। सभी तालाब की ओर गए। कपडे़ खोलकर भीम तालाब में नहाने को उतर गया। वह शरीर में टयूब को फंसाकर पानी की गहराई में चला गया। टयूब का हवा धीरे- धीरे निकलने लगा। वह पानी में डूबने लगा। यह देख सभी वहां से भाग निकले। वहां से घर से कुछ ही दूरी पर स्थित श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्कूल की ओर आए। डर के कारण स्कूल की ओर जाकर छुप गए थे.

बॉक्स.

साइकिल दुकान पर रखी टयूब साथ ले गया था भीम

भीम घर के सामने ही एक साइकिल दुकान है। दोपहर में दुकान बंद थी। टयूब दुकान की छत पर रखा था। उसे उठाकर भीम अपने साथ तालाब ले गया था। करनडीह में जाकर टयूब में हवा भरवाया। इसके बाद तालाब में टयूब लेकर नहाने उतर गया था.

inextlive from Jamshedpur News Desk