BAREILLY: चंदनगर किला में संडे दोपहर उस वक्त सनसनी फैल गई, जिस वक्त गोली चलने से युवक की जान चली गई. जिस वक्त वारदात हुई उस दौरान घर के सदस्य मकान की ऊपरी मंजिल पर नवदुर्गा पूजन के तहत भजन कर रहे थे. परिजनों ने युवक की पत्‍‌नी, ससुर, साले व सास पर गोली मारकर हत्या का आरोप लगाया है. वहीं पुलिस की शुरुआती जांच में क्राइम सीन डिस्टर्ब करने से युवक के खुद ही गोली मारने की बात सामने आयी है. फॉरेंसिक टीम ने डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल की मोर्चरी और घर से सैंपल कलेक्ट किए हैं. युवक के परिजनों ने उसकी पत्‍‌नी, सास-ससुर व अन्य की घर आते ही पिटाई शुरू कर दी. पुलिस ने किसी तरह उन्हें बचाकर हिरासत में लिया है. पुलिस तमंचे की तलाश कर रही है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट का भी इंतजार हो रहा है.

शादी के बाद से होता था झगड़ा 

25 वर्षीय अजय कुमार, चंदन नगर किला में रहता था. उसके परिवार में पत्‍‌नी नीलम, मां रीना, भाई विजय, भाभी सुनीता और बहन राखी हैं. अजय एक न्यूज एजेंसी के लिए काम करता था. उसके भाई विजय नगर निगम में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं. अजय की 11 नवंबर 2017 को सुभाषनगर निवासी राकेश की बेटी नीलम से शादी हुई थी. राकेश, अयूब खां चौराहा स्थित एक इंश्योरेंस कंपनी में कर्मचारी हैं. शादी के बाद से अजय और नीलम के बीच झगड़ा होता रहता था.

रात में देकर गए थे धमकी

विजय ने बताया कि जब भी कोई झगड़ा अजय और नीलम के बीच होता था तो नीलम फोन कर अपने मायके वालों को बुला लेती थी और सभी धमकी देते थे. सैटरडे रात भी नीलम के पिता राकेश और भाई सौरभ उनके घर आए और झगड़ा किया. यहां तक कि उनकी काफी बेइज्जती की और जान से मारने की धमकी देते हुए चले गए. संडे दोपहर में वह घर के बाहर थे. उनकी मां, पत्‍‌नी और बहन छत की ऊपरी मंजिल पर थीं और भजन गाए जा रहे थे. इसी दौरान नीलम के भाई, पिता व सास आए और उनके भाई अजय से झगड़ा किया. झगड़े के बाद उसके सिर में गोली मार दी. गोली की आवाज सुनकर सभी नीचे पहुंचे और अजय को डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल लेकर पहुंचे लेकिन डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया.

सोच समझकर लगाया हत्या का आरोप

वहीं पुलिस की शुरुआती जांच के मुताबिक पुलिस को अजय के घरवालों ने गोली चलने की सूचना नहीं दी थी. किसी अनजान शख्स ने यूपी 100 को सूचना दी. पुलिस मौके पर पहुंची तो उसके भाई विजय ने खुद ही भाई के द्वारा गोली मारने की बात बताई. यही नहीं गोली की सूचना पर अजय के ससुराल वाले भी पहुंच गए तो अजय के घरवालों ने उन्हें घेर लिया और मारपीट शुरू कर दी. किसी तरह पुलिस ने उन लोगों को बचाया और हिरासत में ले लिया. पुलिस के मुताबिक कुछ देर बाद 10 से 15 लोग अन्य आ गए जिसके बाद विजय ने अजय के ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाते हुए तहरीर दे दी. पुलिस की जांच में आया कि अजय के खिलाफ किला, कोतवाली व सुभाषनगर में हत्या के प्रयास व अन्य धाराओं में केस भी दर्ज हैं.

पत्‍‌नी बोली कि खुद मारी गोली

अजय की पत्‍‌नी नीलम ने बताया है कि उसका पति शराब पीने का आदती था. शादी के बाद से ही उसे परेशान करता था, यह बात वह अपने घरवालों को बता देती थी. संडे को भी पति ने झगड़े के बाद चाय नहीं पी थी. वह कमरे में खाना देने गई थी तो पति फोन पर बात कर रहे थे. उसके बाद वह गैलरी में आकर बैठ गई. कुछ देर बाद उसने गोली चलने की आवाज सुनी तो पति खून से लथपथ पड़ा था. उसके मायके में सूचना दी तो पिता, भाई और मां पहुंचे. हत्या का आरोप गलत है.

इन सवालों के जवाब तलाश रही पुलिस

 -क्राइम सीन क्यों डिस्टर्ब कर मामले को छिपाने की कोशिश की गई

-गोली सोफे पर बैठकर मारी गई लेकिन कुशन कवर हटाकर चादर डाली गई

-युवक को सोफे से उठाकर बेड पर लिटाकर गोली मारना बताया गया

-गोली राइट साइड कनपटी पर सटाकर मारी गई और लेफ्ट से निकल गई

-पुलिस जांच में सोफे पर खून मिला है, कवर भी रिकवर हो गए हैं

-डेढ़ बजे की वारदात की सूचना पुलिस को दो घंटे बाद क्यों दी गई

-तमंचा क्यों गायब किया गया, पुलिस कर रही है तलाश

युवक की सिर में गोली लगने से मौत हुई है. मामला संदिग्ध लग रहा है. परिजन हत्या का आरोप लगा रहे हैं, लेकिन सुसाइड की बात सामने आयी है. जांच की जा रही है.

रोहित सिंह सजवाण, एसपी सिटी

Crime News inextlive from Crime News Desk