- कनपटी पर तमंचा सटाकर किया फायर, मौके पर ही तोड़ा दम

- छह माह पहले विवाद के बाद पत्नी छोड़कर चली गई थी मायके.

क्चन्क्त्रश्वढ्ढरुरुङ्घ :

भमोरा के गांव बेहटा लालच में पत्नी से विवाद के बाद तनाव में आए शिक्षामित्र ने सैटरडे रात को सिर में गोली मारकर खुदकशी कर ली. घरवाले उसे इलाज को ले जाते इससे पहले ही उसकी मौत हो गई. पुलिस ने जांच के बाद शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

पत्नी ने दर्ज कराई थी रिपोर्ट

गांव बेहटा लालच निवासी प्रेम सिंह 36 वर्ष की शादी दातागंज के गांव बसेला निवासी वैजयंती माला के साथ हुआ था. उनके चार बच्चे हैं. दोनों में किसी बात को लेकर आए दिन विवाद होने लगा. जिससे 6 माह पूर्व वह बच्चों को छोड़कर मायके चली गई. कुछ समय बाद लौटी तो पति पर किसी युवती के साथ रहने का आरोप लगाते विवाद करने लगी. इस पर प्रेम सिंह ने उसकी पिटाई कर दी. नाराज होकर वैजयंती ने मामले की रिपोर्ट दर्ज करा दी. इसको लेकर दोनों में दूरियां बन गई. प्रेम सिंह गांव सिरोही के प्राथमिक विद्यालय में शिक्षामित्र के पद पर तैनात थे.

शव के नीचे दबा मिला तमंचा

प्रेम सिंह के चचेरे भाई उपदेश ने बताया कि शाम प्रेम सिंह शराब पीकर आया और गाली गलौज करने लगा. कुछ देर बाद कमरे में चला गया. शाम करीब 6 बजे सिर में तमंचे से गोली मारी ली. गोली की आवाज सुनकर घरवाले कमरे में पहुंचे तो प्रेम सिंह खून से लथपथ पड़ा था. यह देख घर में चीख पुकार मच गई. प्रेम सिंह को इलाज के लिए ले जाते इससे पहले ही उसने दम तोड़ दिया. सूचना पर पुलिस पहुंची और वारदात की पड़ताल की. पुलिस को शव के नीचे तमंचा दबा मिला. उसमें चला हुआ कारतूस फंसा था.