- पिछले साल इस हॉस्पिटल के मरीज नहीं किये थे शामिल

- इस बार अब तक 5 मरीजों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि

देहरादून, स्वाइन फ्लू के मामले सामने आने के साथ ही एक बार फिर शहर के एक मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में होने वाली जांच को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है. पिछले साल इस हॉस्पिटल में हुई जांच के मामले शुरुआती दौर में अन्य हॉस्पिटल्स के मामलों के साथ शामिल किये गये थे, लेकिन बाद में इस हॉस्पिटल में कन्फर्म हुए मामले अन्य मरीजों के साथ शामिल नहीं किये गये. इस बार फिर से असमंजस की स्थिति है. इस हॉस्पिटल की जांच में कन्फर्म पाये गये मामलों को फिलहाल सरकारी रिकॉर्ड में अलग से रखा जा रहा है. हालांकि सीएमओ डॉ. वाईएस थपलियाल का कहना है कि इस हॉस्पिटल की जांच को मान्यता दे दी गई है.

मामले पर एक नजर

देहरादून में सिर्फ एक प्राइवेट हॉस्पिटल में स्वाइन फ्लू की जांच की सुविधा है. अन्य सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटल्स के सस्पेक्टेड मरीजों के सैंपल सीएमओ ऑफिस के माध्यम से जांच के लिए एनआईसीडी दिल्ली भेजे जाते हैं. पिछले साल स्वास्थ्य विभाग ने अपने यहां जांच करने वाले हॉस्पिटल के मरीजों को स्वाइन फ्लू मरीज मानने से इनकार कर दिया था.

इस बार अलग से रिकॉर्ड

इस बार फिलहाल इस हॉस्पिटल से कन्फर्म बताये गये मरीजों के आंकड़े सरकारी रिकॉर्ड में शामिल तो किये जा रहे हैं, लेकिन उनका अलग से उल्लेख भी किया जा रहा है.

फिलहाल क्या है स्थिति

जिले में अब तक स्वाइन फ्लू के 5 केस कन्फर्म हुए हैं. इनमें एक मरीज का इलाज दून हॉस्पिटल में हुआ, जिसकी जांच एनआईसीडी से करवाई गई. 4 अन्य कन्फर्म केस प्राइवेट हॉस्पिटल के हैं. स्वाइन फ्लू से अब तक दो मौतें हुई हैं. इनमें थराली विधायक मगन लाल शाह की मौत हिमालयन हॉस्पिटल में हुई थी और सैंपल की जांच एनआईसीडी से करवाई गई थी. दूसरी मौत प्राइवेट हॉस्पिटल में हुई, जिसकी जांच भी खुद हॉस्पिटल ने की थी.

रिकॉर्ड में भर्ती मरीजों की संख्या तीन

खास बात यह है कि खुद जांच करने वाले प्राइवेट हॉस्पिटल के मरीज हॉस्पिटल में भर्ती हुए या नहीं इसका कोई रिकॉर्ड नहीं रखा जा रहा है. रिकॉर्ड के अनुसार अब तक तीन स्वाइन फ्लू मरीजों का हॉस्पिटल्स में इलाज करवाया गया, इनमें दो का इलाज हिमालयन हॉस्पिटल और एक का दून हॉस्पिटल में हु़आ. जिस प्राइवेट हॉस्पिटल में अब तक 4 मरीज कन्फर्म हुए और एक की मौत उसमें भर्ती मरीजों की संख्या रिकॉर्ड में नहीं है.

एक प्राइवेट हॉस्पिटल में स्वाइन फ्लू की जांच सुविधा है. पिछले साल तक उसके कन्फर्म मरीजों को शामिल नहीं किया जा रहा था. इस बार हॉस्पिटल की जांच को मान्यता दे दी गई है. अन्य अस्पतालों के मरीजों की जांच एनआईसीडी में ही करवाई जाएगी.

-डॉ. वाईएस थपलियाल, सीएमओ.