- कपड़ा कारोबारी के मकान को बनाया निशाना

- परिवार घर में सोता रहा, पुलिस जांच में जुटी

आगरा. थाना न्यू आगरा के कमलानगर में चोरों ने कपड़ा कारोबारी के मकान को निशाना बनाया. रात में परिवार घर में सो रहा था, जबकि चोर 50 लाख का बटोर ले गए. वारदात के दौरान चोर बेखौफ रहे. चोरी के बाद घर में पार्टी की. सुबह जगार होने पर परिवार को घटना की जानकारी हुई. मौके पर डॉग स्क्वॉयड व फोरेंसिक टीम ने भी छानबीन की.

सुबह जागने पर हुई जानकारी

कमला नगर, प्रोफेसर कॉलोनी एफ-51 निवासी अंकित अग्रवाल पुत्र स्व. सुरेश चंद की नुनिहाई में एके हौजरी के नाम से फैक्ट्री है. कोठी में अंकित मां प्रतिभा देवी, पत्नी श्वेता, बेटा अरनव व बेटी शान्या के साथ रहते हैं. बुधवार रात परिवार घर में ही था. गुरुवार की सुबह साढ़े पांच बजे बेटी शान्या उठी तो ऊपर वाली मंजिल पर छत के कमरे का दरवाजा खुला दिखा. अंदर गई तो उसकी चीख निकल गई. अलमारी खुली हुई थी. सामान बाहर बिखरा पड़ा था. सभी परिजन पहुंच गए. नीचे वाले रूम पर निगाह पड़ी तो वहां का दरवाजा भी खुला हुआ था. वहां भी अलमारियां खुली थीं. सामान बाहर बिखरा पड़ा था.

चोरों के घुसने के मिले निशान

इसके बाद जब परदा हटा कर देखा तो बैठक का जंगला अपने स्थान से हटा हुआ एक तरफ रखा मिला. चोरों ने यहां से एंट्री की. गार्डन में कुछ लिफाफे पड़े थे. चोरों ने लिफाफे खाली कर डाल दिए. पड़ोसी रिटायर्ड प्रोफेसर बाल किशन की कोठी से बाउंड्री मिली हुई है. चोरों के पैरों के निशान दीवार पर थे. माना जा रहा है कि चोर यहीं से आए हैं. थाना न्यू आगरा फोर्स के अलावा डॉग स्क्वॉयड व फोरेंसिक टीम पहुंच गई. टीम ने मौके से साक्ष्य जुटाए. पीडि़त के मुताबिक चोर छह लाख कैश, करीब 45 लाख की ज्वैलरी के अलावा मंदिर से दो चांदी के दीपक ले गए.

चोरी के बाद की पार्टी

अंकित की पत्नी श्वेता के मुताबिक चोरों ने हर कमरे में सामान की तलाश की. संभावना है कि चोरों ने वारदात से पहले कोई स्पे्र किया हो, जिससे परिजनों की आंख नहीं खुली. चोरों ने रसोई से भी छेड़छाड़ की है. रसोई में बिस्किट के पैकेट खुले हुए थे. चोरों ने यहां नाश्ता भी किया.

सीसीटीवी फुटेज से तलाश जारी

अंकित के मुताबिक उनकी कोठी में सीसीटीवी कैमरे नहीं है, लेकिन बाहर कुछ मकानों पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं. पुलिस उनसे सुराग जुटा रही है.

लेबर कर रही है काम

अंकित के मुताबिक उनके बराबर से एक कोठी बन रही है. वहां की लेबर को एक बार कोठी दिखाई थी. उनके काम से कोठी पर सीलन आ गई थी. चोरों ने छत का दरवाजा खोला, लेकिन वह यहां से नहीं गए. चोर जहां से आए थे वहीं से गए. पड़ोसी के गमले गिरे हुए थे.