- दो महीने पहले गुड़गांव चला गया था परिवार

- बाथरूम की नल फिटिंग के साथ कपड़े भी ले गए

आगरा. थाना शाहगंज के प्रतापनगर में चोरों ने एक बंद मकान को निशाना बनाया. घर के हर कोने को खंगाल डाला. बाथरूम में नल की फिटिंग से लेकर एसी के फैन तक को नहीं छोड़ा. शुक्रवार को परिवार के पहुंचने पर घटना की जानकारी हुई. मौके पर हालात को देखकर परिवार ने आशंका जताई कि चोर कई बार में सामान ले गए हैं. बावजूद इसके पुलिस ने जांच में लापरवाही बरती. डॉग स्क्वॉयड और फील्ड यूनिट को बुलाना उचित नहीं समझा. पीडि़त के मुताबिक चोर लाखों रुपये के माल पर हाथ साफ कर गए.

दो महीने पहले गया था परिवार

ए-20 प्रताप नगर, शाहगंज निवासी जय वलेचा व उनकी पत्नी दीपाली गुड़गांव में इंजीनियर हैं. जय के पिता राजेश वलेचा का दो महीने पहले देहांत हो गया. पिता के देहांत के बाद जय के दादा किशन लाल वलेचा व मां सविता उनके साथ गुड़गांव में शिफ्ट हो गए. परिवार दो महीने पहले गुड़गांव गया था.

गमी में शामिल होने आए थे आगरा

जय पत्नी के साथ गुरुवार को एक साथी के यहां गमी में शामिल होने आए थे. शुक्रवार को वह अपने मकान को देखने गए. मेनगेट खोलकर अंदर गए तो कमरे का गेट खुला था. अंदर गए तो उनकी आंखें फटी रह गई. बैठक की अलमारियां खुली पड़ी थीं. चोरों ने घर की एक-एक अलमारी को खंगाल डाला था.

सामान को खोल ले गए

घर में एक भी सामान ऐसा नहीं था, जिसे चोरों ने टच नहीं किया हो. घर में रखा एक-एक डिब्बा खुला हुआ था. डबल बेड भी खुले पड़े थे. चोरों ने एसी और फ्रीज के कम्प्रेशर भी खोल दिए. इसके लिए पहले उन्होंने बिजली की लाइन काट दी. एसी निकालने से पहले लाइट के स्विच बोर्ड को निकाल दिया.

कई बार में ले गए सामान

चोर यहां से कई बार सामान में ले गए. चोरी एक दिन में नहीं हुई है. चोरों ने घर में रखी एक्टिवा चोरी नहीं की, लेकिन उसका पिछला टायर और हेडलाइट निकाल ली. चोर बड़े सामान में से बिकने वाले पा‌र्ट्स को खोल ले गए.

चोरों ने आराम भी फरमाया

बाहर के कमरे में एक्टिवा के पास गद्दा भी बिछा हुआ था. परिजनों की आशंका है कि चोरी के दौरान चोरों ने यहां पर आराम भी किया. चोरों ने बाथरूम से गीजर निकाल लिए. इसके अलावा बाथरूम में नल की फिटिंग उखाड़ दी. एसी भी निकाल लिया.

महंगे कपड़े भी ले गए चोर

दीपाली का कहना था कि चोरों ने मकान की एक-एक अलमारी खोली है. अलमारियों में कुछ भी नहीं छोड़ा. रसोई का सामान भी चोरों ने बाहर निकाल दिया. बेड की प्लाई भी गायब है. दीपाली के मुताबिक घर में कैश और ज्वैलरी नहीं थे. लेकिन सामान बहुत था. उनकी महंगी साडि़या भी गायब हैं. जय वलेचा का कहना था कि चोरों ने उनके यहां से चार से पांच लाख रुपये के माल पर हाथ साफ कर दिया.

पुलिस ने दिखाई लापरवाही

शुक्रवार सुबह सूचना पर पुलिस पहुंच गई, लेकिन पुलिस ने यहां पर लापरवाही दिखाई. मौके पर न तो डॉग स्क्वॉयड को बुलाया और न ही फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट टीम मौके पर आई. पुलिस ने इन टीमों को न बुला कर पहले ही चोरों के खिलाफ सबूत नष्ट कर दिए.

एसी का फैन था गायब

बाहर ही एक जनरल स्टोर की दुकान है. दुकान संचालक का कहना था कि वह सुबह नौ बजे दुकान खोलते हैं और रात को आठ बजे बंद करते हैं. लेकिन उन्हें किसी तरह की खटपट सुनाई नहीं दी. लेकिन शुक्रवार की सुबह जब दुकान खोली, तो बाहर लगा एसी का फैन गायब था.

चोरों को थी जानकारी

पीडि़त के मुताबिक घर में कोई नहीं है. इस बात की जानकारी पहले से चोरों को थी. चूंकि चोरों ने एक बार में चोरी नहीं की. आशंका बन रही है घर से परिजनों के जाने की बात कहीं से चोरों को पता चली है, इसके बाद ही उन्होने मकान को टारगेट कर दिया.