1. कुलदीप यादव-आर अश्‍विन
करियर के 9वें वनडे में हैट्रिक लेकर कुलदीप ने अपनी प्रतिभा का सबूत दे दिया। 22 साल के कुलदीप की खासियत है उनकी अनोखी बॉलिंग स्‍टाईल। यह युवा गेंदबाज 'चाइनामैन' स्‍टाईल में गेंदबाजी करता है, जिसकी बदौलत उनको काफी विकेट मिलते हैं। इस साल कुलदीप वनडे में सबसे ज्‍यादा विकेट लेने वाले भारतीय स्‍पिनर बन गए हैं। उन्‍होंने 14 मैचों में 22 विकेट चटकाए हैं। कुलदीप की टीम में आते ही दिग्‍गज स्‍पिनर आर अश्‍विन की वापसी मुश्‍किल हो गई। वह काफी अर्से से सीमित ओवरों में भारतीय टीम से बाहर हैं। अश्‍विन तभी सफल होते हैं जब पिच मददगार हो जबकि कुलदीप कलाई से स्‍पिन कराते हैं और काफी घातक साबित होते हैं।
2017 में इन खिलाड़ियों के चलते दिग्‍गज हुए टीम से बाहर
2. यजुवेंद्र चहल-रवींद्र जडेजा
आईपीएल में बेहतर प्रदर्शन का ही रिवॉर्ड है कि, यजुवेंद्र चहल को टीम में इंट्री मिली। जब-जब टीम को जरूरत थी, चहल ने विकेट निकाल के दिया। उनकी यही कला उन्‍हें टीम में पक्‍की जगह दिला पाई। रवींद्र जडेजा की जगह टीम में चहल को चुना गया था। युवा गेंदबाज ने इसका भरपूर फायदा भी उठाया। वनडे हो या टी-20 चहल ने हमेशा अच्‍छी गेंदबाजी की है। चहल ने इस साल 17 वनडे खेले जिसमें उनके नाम 27 विकेट दर्ज हैं। ऐसा प्रदर्शन जारी रहा तो 2019 वर्ल्‍डकप में चहल को टीम में रखा जा सकता है।
2017 में इन खिलाड़ियों के चलते दिग्‍गज हुए टीम से बाहर
3. हार्दिक पांड्या-युवराज सिंह
2011 वर्ल्‍डकप के हीरो रहे सिक्‍सर किंग युवराज सिंह काफी समय से टीम में वापसी को लेकर जूझ रहे हैं। बीच-बीच में उन्‍हें एक-दो मैचों में मौका मिल जाता है लेकिन बाद में फिर वही फिटनेस व अन्‍य किसी कारणवश उन्‍हें बाहर बैठना पड़ता है। इसका फायदा उठाया कूंग-फू पांड्या ने, पांड्या लगातार अपनी परफॉर्मेंस को सुधारते जा रहे हैं। और वह टीम के लिए काफी उपयोगी हो चुके हैं। फिनिशर की भूमिका में भी वह युवी की तरह लंबे-लंबे छक्‍के लगा रहे हैं। इसके अलावा गेंदबाजी में भी 10 ओवर का पूरा स्‍पेल फेंक रहे। यानी कि पांड्या की जगह भी लगभग पक्‍की हो गई। उन्‍होंने 2017 में 28 वनडे खेले जिसमें उनके नाम 31 विकेट दर्ज हैं। पांड्या ने अभी तक कुल 32 वनडे खेले हैं और उनके खाते में 35 विकेट हैं।

इन 4 भारतीय गेंदबाजों ने जितने कुल मैच नहीं खेले, उससे ज्‍यादा विकेट तो 2017 में लिए

2017 में इन खिलाड़ियों के चलते दिग्‍गज हुए टीम से बाहर
4. शिखर धवन-गौतम गंभीर
टीम इंडिया के गब्‍बर कहे जाने वाले शिखर धवन टीम के परमानेंट मेंबर बन गए हैं। गंभीर के बार-बार फेल हो जाने के बाद टीम को एक बाएं हाथ के ओपनर की तलाश थी, जिसे धवन ने पूरा कर दिया। 2016 से लेकर अब तक धवन का बल्‍ला खूब गरजा है। 2017 में धवन को 22 वनडे मैचों में खेलने का मौका मिला और उन्‍होंने 48.00 की औसत से 960 रन बना दिए। इस दौरान उनके बल्‍ले से 3 शतक भी निकले।
2017 में इन खिलाड़ियों के चलते दिग्‍गज हुए टीम से बाहर

Cricket News inextlive from Cricket News Desk