JAMSHEDPUR: जमशेदपुर में मात्र क्ख्7 पुलिसकर्मी टै्रफिक व्यवस्था संभाल रहे हैं. ये औसतन रोज चार लाख गाडि़यों को कंट्रोल कर रहे हैं. शहर में ट्रैफिक डीएसपी का दो पद है, लेकिन एक ही डीएसपी कार्यरत है. नो इंट्री खत्म होते ही शहर में बड़ी गाडि़यों की इंट्री शुरू हो जाती है, साथ ही हेवी व्हीकल्स शहर से बाहर भी जाते हैं.

संसाधन की कमी

शहर के बड़े चौक-चौराहे और ट्रैफिक सिग्नल पर तैनात पुलिसकर्मियों के पास वॉकी-टॉकी और विजिल के सिवाय कुछ भी नहीं है. ट्रैफिक पुलिस के पास स्पीडोमीटर समेत अन्य साधन का भी अभाव है. शहर में जुगसलाई, बिष्टुपुर, साकची और मानगो ट्रैफिक थाना है.

मेन एक्सीडेंट जोन

भुंइयाडीह लिट्टी चौक, जुबिली पार्क गोलचक्कर, आदित्यपुर-खरकाई गोलचक्कर, स्टेशन रोड, टाटा-हाता मुख्य मार्ग, बर्मामाइंस सुनसुनिया गेट, गोलमुरी आरडी टाटा गोलचक्कर, कीनन स्टेडियम गोलचक्कर, साकची गरमनाला, जेम्को गोलचक्कर, टयूब कंपनी गेट, मरीन ड्राइव मार्ग से आदित्यपुर टॉल ब्रिज.

यहां लगता है जाम

एमजीएम हॉस्पिटल गोलचक्कर, बंगाल रोड, जुबिली पार्क रोड, बिष्टुपुर गोलचक्कर, स्टेशन ओवर ब्रिज से टाटानगर स्टेशन तक, जुगसलाई रंग गेट, साकची कालीमाटी, साकची शीतला मंदिर चौक, साकची स्टेट माइल रोड, मानगो गोलचक्कर, मानगो बस स्टैंड, डिमना चौक, बाराद्वारी काशीडीह रोड, भालूबास मेन रोड, सुनसुनिया गेट.

कोई योजना नहीं

शहर की ट्रैफिक व्यवस्था बिना योजना के ही चल रही है. ट्रैफिक पुलिस का कार्य हेलमेट जांच और जाम हटाने तक सीमित है. कोई व्यवस्थित योजना नहंीं होने के कारण दुर्घटनाएं हो रही है. शहर के सभी मार्ग पर पैदल राहगीर, साइकिल, ठेलानुमा दुकान, ऑटो, बाइक, मिनी बस चलते है. सड़क किनारे ही गाडि़यों की पार्किंग होती है. जिससे हमेशा जाम की स्थिति रहती है. शहर में पार्किंग, जमीन, परिवहन और ट्रैफिक व्यवस्था की कमान अलग-अलग हाथों में है, जिनमें तालमेल का अभाव नजर आता है. शहर के कंपनी एरिया में सड़क, पार्किंग और दुकान का जिम्मा जुस्को के हाथ में है. ट्रैफिक रूल्स का पालन हो रहा या नहीं. इसकी जिम्मेदारी ट्रैफिक पुलिस संभालती है.

ट्रैफिक थानों में तैनात पुलिसकर्मी

जुगसलाई क्9

मानगो ख्ख्

गोलमुरी ख्ख्

बिष्टुपुर ख्भ्

साकची फ्9

चार साल में गाडि़यों की बढ़ोत्तरी

साल टू व्हीलर फोर व्हीलर टोटल

ख्0क्फ्-क्ब् फ्ब्भ्ख्0 ब्990 ब्भ्8म्8

ख्0क्ब्-क्भ् ब्00म्7 भ्म्8ब् भ्क्भ्फ्क्

ख्0क्भ्-क्म् ब्9009 भ्भ्भ्ब् भ्9म्7म्

ख्0क्म्-क्7 ब्ख्ख्9फ् ब्9भ्फ् भ्क्क्97

तीन वर्ष की दुर्घटना के आंकडे़

वर्ष मृत घायल दुर्घटना

ख्0क्ब् क्7ब् ख्भ्9 फ्म्म्

ख्0क्भ् क्भ्7 फ्भ्भ् फ्ब्7

ख्0क्म् क्80 फ्फ्0 फ्ब्फ्