LUCKNOW: इंदिरानगर इलाके में खेल खेल में पांचवीं कक्षा का छात्र फांसी के फंदे पर झूल गया. देर शाम काम से घर लौटे पैरेंट्स ने मासूम का शव फंदे से लटकता हुआ देखा. शव केपास में ही उसकी छोटी बहन खेल रही थी. बेटे के शव को देख मां और पिता की चीख निकल गई. उसे आनन फानन में फंदे से उतारा और अस्पताल ले गये, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी. आस-पास के लोगों ने घटना की सूचना इंदिरा नगर पुलिस को दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

बेटे को पढ़ाने के लिए काम रहे थे दोनों

इंदिरानगर के गायत्री पुरम पानी गांव निवासी पिंटू साहू सब्जी का ठेला लगता है. परिवार में उसकी पत्नी माधुरी, बेटा ललित (12) और एक छोटी बेटी है. पिंटू की पत्नी घरों में चौका बर्तन करती है. वह अपने बेटे को अच्छी परवरिश देना चाहती थी. इसके लिए उन्होंने ललित का एडमिशन एक अच्छे स्कूल में कराया था. ललित कक्षा पांच का छात्र था और मां-बाप के काम पर जाने पर छोटी बहन का ख्याल भी रखता था.

घर पर मौजूद नहीं थे मां और पिता

इंदिरानगर इंस्पेक्टर मुकुल वर्मा ने बताया कि रविवार देर शाम पिंटू और माधुरी दोनों काम पर गए थे. पिंटू सब्जी का ठेला लगाने गया था जबकि माधुरी चौक बर्तन करने गई थी. घर में ललित और उसकी छोटी बहन अकेली थी. रात करीब 8.30 बजे जब माधुरी घर लौटी तो बेटे का शव पंखे के कुंडे से लटकता मिला.

छात्र की मौत हादसा है या साजिश

ललित की मौत हादसा है या साजिश इसकी पुलिस जांच पड़ताल कर रही है. इंदिरा नगर इंस्पेक्टर का कहना है कि हालात के अनुसार छात्र ने खेल-खेल के दौरान दुपट्टे का फंदा बनाकर कुंडे में डाला और बहन को दिखाने के लिए वह अपनी गर्दन में फंसा रहा था. अचानक वह फंदे पर झूल गया और उसकी मौत हो गई.