-24 घंटे में टू-व्हीलर पीआरवी को ट्रांसफर की गई 18 कॉल

BAREILLY: तंग गलियों में तुरंत पुलिस हेल्प के लिए टू-व्हीलर पीआरवी चलाई गई हैं लेकिन इन पीआरवी में भी एमडीटी की प्रॉब्लम शुरू हो गई है. एमडीटी में समय पर इवेंट नहीं पहुंच रहा है और जीपीएस लोकेशन में भी प्रॉब्लम आ रही है. जिसकी वजह से इवेंट देर से डिसपैच हो रहा है. इस तरह की प्रॉब्लम फोर व्हीलर पीआरवी में आती है. टू-व्हीलर पीआरवी के शुरू होने के 24 घंटे में 18 कॉल आयी हैं.

नेटवर्क में आ रही प्रॉब्लम

13 अप्रैल को एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने पुलिस लाइंस से 27 टू-व्हीलर पीआरवी को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था. 25 पीआरवी फील्ड में हैं और 2 रिजर्व में रखी गई हैं. प्रत्येक पीआरवी पर एक कॉन्स्टेबल और एक होमगार्ड की तीन-तीन शिफ्ट में ड्यूटी लगाई है. पीआरवी स्टाफ को एमडीटी, वायरलेस, टॉर्च, व अन्य सामान दिया गया है. एमडीटी ही स्मार्टफोन की तरह वर्क कर रही है. इसपर ही सबसे पहले लखनऊ से कॉल आने पर इवेंट भेजा जा रहा है, लेकिन नेटवर्क की प्रॉब्लम की वजह से इवेंट समय पर डिस्पैच नहीं हो रहा है.

कॉलर से पूछ रहे गली के बारे में

सिटी के अंदर 100 नंबर पर आने वाली कॉल में अब कॉलर से पूछा जा रहा है कि उसके यहां फोर व्हीलर पहुंच सकती है या टू-व्हीलर. उसी आधार पर लखनऊ से टू-व्हीलर एमडीटी पर इवेंट भेजा जा रहा है, ताकि सूचना देने वाले को समय पर हेल्प मिल सके. जल्द ही रेस्पॉन्स टाइम भी कम किया जाएगा. फोर व्हीलर पीआरवी पर भी जल्द 3 शिफ्ट में ड्यूटी लगाई जाएगी.