un इन देशों को घोषित कर चुका है आतंकी राष्‍ट्र...

ईरान:

साल 2013 में आई आतंकी देशों की रिपोट्र्स के मुताबिक इसमें ईरान का नाम शामिल है। ईरान 19 जनवरी 1984 में आतंकी राष्‍ट्र घोषित हो चुका है। यह देश भी अपने दुश्‍मन देशों से बदला लेने के लिए आतंक को ही अपना हथियार मानता है। वहीं यह सीरिया को आतंक के मामले में पूरा सर्पोट करता है।

un इन देशों को घोषित कर चुका है आतंकी राष्‍ट्र...

सूडान:

सूडान भी आतंक फैलाने वाले देशों की सूची में हैं। सूडान को 12 अगस्‍त 1993 में आतंकवाद का प्रायोजक नामित किया गया था। सूडान की सरकार सूडान के नागरिकों के हितों के लिए आतंक का सहारा लेती है। उसका अभी भी यूएस और उसके संघी देशों को आतंकी धमकी देने को सिलसिला जारी है। जिसकी वजह से वह यूएन ने इसे आतंक प्रायोजक देश करार दिया है।

un इन देशों को घोषित कर चुका है आतंकी राष्‍ट्र...

सीरिया:
सीरियाई विद्रोह या सीरियाई संकट के नाम से जाने वाले देश सीरिया भी आतंक प्रायोजक देश है। साल 2013 की आई रिपोर्टस के मुताबिक इसे इस आंतकी प्रायोजक देशों की सूची में 29 दिसंबर 1979 में शामिल किया गया था। यहां के आतंक का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले कई सालों से सरकार और विद्रोहियों के गृहयुद्ध जारी है। सीरिया को ईरान भी युद्ध के लिए एर्नेजेटिक सपोर्ट करता हे।

un इन देशों को घोषित कर चुका है आतंकी राष्‍ट्र...

क्‍यूबा:
आतंक प्रयोजक देश में क्‍यूबा का नाम 1 मार्च 1982 में जोड़ गया था। क्यूबा और संयुक्त राज्य अमेरिका के बीच एक बड़ा टकराव रहा है। 1962 में, क्यूबा ने चोरी-छिपे संयुक्त राज्य अमेरिका के अधिकांश भागों MRBMs और IRBMs जैसी प्राक्षेपिक मिसाइलें लगना शुरू कर दिया था। ऐसे में क्‍यूबा के ऐसे कारनामों की वजह से इसके यूएन ने आतंकी प्रायोजक देश घोषित किया था। इसके बाद यह देश इस सूची में कई बार शामिल हुआ और इससे बाहर हुआ। हालांकि 29 मई 2015 को यह आखिरी बार इससे बाहर हो गया।

un इन देशों को घोषित कर चुका है आतंकी राष्‍ट्र...

इराक:

इराक को भी यूएन ने 29 1979 में आतंकी प्रायोजक करार दिया था। इराक-कुवैत युद्ध का युद्ध एक समय पूरी दुनिया के लिए चिंता का विषय बन गया था। हालांकि इसके बाद इसे 1982 में इस सूची से बाहर निकलने के बाद 1990 में दोबारा अपने आतंकी प्रायोजनाओं की वजह से शामिल हो गया है। इसके बाद यह फिर एक बार इस सूची से बाहर निकल कर इसमें शामिल हुआ। हालांकि 25 सितंबर 2005 को फाइनली यह इस सूची से बाहर हो गया।

Interesting News inextlive from Interesting News Desk

Interesting News inextlive from Interesting News Desk