ट्रेनों की लेटलतीफी से परेशान हैं तो आपकी मदद करेगी रोडवेज की स्कैनिया

By: Inextlive | Publish Date: Wed 15-Nov-2017 05:21:16   |  Modified Date: Wed 15-Nov-2017 05:24:35
A- A+
ट्रेनों की लेटलतीफी से परेशान हैं तो आपकी मदद करेगी रोडवेज की स्कैनिया
-ट्रेन्स की लेटलतीफी से परेशान पैसेंजर्स के लिए रोडवेज की स्कैनिया है बेस्ट ऑप्शन -नई दिल्ली, आगरा, कानपुर, लखनऊ तक का सफर बना रही आसान, कोहरे में भी स्कैनिया की रफ्तार नहीं होती स्लो

varanasi@inext.co.in

VARANASI

कोल्ड सीजन शुरू होने के साथ ही ट्रेन्स की रफ्तार कुंद पड़ गई है. हर दिन ट्रेनों की लेटलतीफी से यात्रियों के जरूरी काम अटक जा रहे हैं. ऐसे में रोडवेज की स्कैनिया बस बेहतर सवारी हो सकती है. नई दिल्ली, कानपुर, आगरा, लखनऊ के लिए स्कैनिया के साथ वाल्वो बस भी बेस्ट ऑप्शन है. कैंट रोडवेज बस स्टेशन से ये बसें रोजाना अप-डाउन कर रही हैं. फ्री वाई-फाई सहित कम्फर्टेबल सीट के चलते आपका सफर और भी आसान बन जाएगा. स्कैनिया बस की खासियत यह है कि इसकी स्पीड पर कोहरे का असर नहीं होता है.

 

नई दिल्ली के लिए स्कैनिया बेस्ट

बनारस से नई दिल्ली के बीच आधा दर्जन से अधिक ट्रेनें चल रही हैं. किसी ट्रेन में बर्थ नहीं मिल रहा तो किसी की टाइमिंग पर लेटलतीफी की मार है. ऐसे में बनारस सहित पूर्वाचल भर के लोगों के लिए रोडवेज की हाईटेक स्कैनिया बस सबसे बेस्ट साबित हो सकती है. कैंट बस स्टेशन से डेली दोपहर में ढाई बजे और शाम चार बजे स्कैनिया बस नई दिल्ली के लिए रवाना होती है. प्रतापगढ़, इलाहाबाद, कानपुर, इटावा, यमुना एक्सप्रेस वे से होते हुए ये बस दूसरे दिन सुबह में आनंद विहार पहुंचा रही है.

 

वाल्वो भी है खास

मथुरा, वृंदावन के अलावा यदि आगरा ताजनगरी आना जाना है तो फिर वॉल्वो के अलावा जनरथ की एसी बस सुबह से शाम तक कैंट रोडवेज बस स्टेशन से रोजाना जा रही है. बनारस टू आगरा के लिए वाल्वो कैंट रोडवेज बस स्टेशन से सुबह साढ़े नौ बजे रोजाना आगरा के लिए प्रस्थान कर रही है. जो दूसरे दिन सुबह सात से आठ बजे तक वहां पहुंची रही है. मथुरा, वृंदावन के लिए सुबह आठ बजे जनरथ एसी बस रोजाना रवाना हो रही है.

 

लखनऊ के लिए चार वॉल्वो

बनारस से लखनऊ आने-जाने वालों की संख्या बहुतायत में है. ऐसे यात्रियों के लिए यदि ट्रेन पॉसिबल नहीं हो पा रही है तो तो फिर उनके लिए रोडवेज की वॉल्वो बस सबसे मुफीद साबित होगी. दिन भर में चार बार बनारस से वॉल्वो लखनऊ कूच कर रही है. सुबह आठ बजे, नौ बजे, अपराह्न तीन बजे और रात में साढ़े दस बजे रोजाना कैंट बस स्टेशन से रवाना हो रही है.

 

काठमाण्डू, गोरखपुर भी आसान

भारत-नेपाल मैत्री वॉल्वो बस कैंट रोडवेज बस स्टेशन से सुबह दस बजे काठमाण्डू के लिए डेलीा रवाना हो रही है. आजमगढ़, गोरखपुर, सोनौली होते हुए अगले दिन भोर में चार से पांच बजे काठमाण्डू पहुंचा रही है. उधर, काठमाण्डू से भी सुबह दस बजे बनारस के लिए वॉल्वो अवेलेबल है.

 

 

 

इतनी हैं स्पेशल बस

 

- बनारस टू काठमाण्डू वॉल्वो बस

- बनारस टू आगरा वॉल्वो बस

- बनारस टू नई दिल्ली दो स्कैनिया बस

- बनारस टू लखनऊ वॉल्वो बस

-बनारस टू मथुरा जनरथ एसी बस

 

 

रोडवेज की स्कैनिया बस पर स्मॉग, व कोहरे का कोई असर नहीं होता है. इन बसेज में ऑनलाइन टिकट बुक कराकर पैसेंजर्स अपनी सीट रिजर्व करा सकते हैं.

पीके तिवारी, आरएम, रोडवेज बस स्टेशन, कैंट