* डिप्टी सीएम के निर्देश पर गोरखपुर डीआईओएस भी देंगे यूपी एसटीएफ को 198 परीक्षा केंद्रों की सूची

रखी जाएगी विशेष नजर
छह फरवरी से स्टार्ट हो रही यूपी बोर्ड परीक्षा की तैयारियों को लेकर पांच जनवरी को डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने आलाधिकारियों की मौजूदगी में सभी जिलों के शिक्षाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की थी. जिसमें डिप्टी सीएम ने सभी डीआईओएस को निर्देश दिया कि ऐसे सेंटर्स पर विशेष नजर रखी जाए, जहां सिर्फ बोर्ड परीक्षा होती है. इनकी सूची एसटीएफ को भी उपलब्ध करवाई जाए, जिससे नकल न होने पाए.

प्रैक्टिकल देरी पर पड़ी फटकार
डीआईओएस ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह भदौरिया ने बताया कि डिप्टी सीएम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान 15 जनवरी तक परीक्षा केंद्रों की सूची देने के लिए कहा है. उन्होंने कहा कि सीसीटीवी कैमरे लगाते हुए उन्हें फंक्शन में लाया जाए. आंसर शीट की कोडिंग भी की जाएगी. इसके लिए बोर्ड को-आर्डिनेटर को निर्देशित कर दिया गया है. वहीं इस दौरान गोरखपुर में 30 दिसंबर से प्रैक्टिकल नहीं शुरू कराए जाने का मामला भी चर्चा में रहा. डिप्टी सीएम ने नाराजगी जाहिर करते हुए तत्काल प्रभाव से प्रैक्टिकल शुरू कराए जाने का निर्देश दिया.

ये एरियाज हैं नकल के लिए बदनाम

- कैंपियरगंज

- पीपीगंज

- सहजनवा

- सोनबरसा

- पिपराइच

- कौड़ीराम

- बांसगांव

- चौरीचौरा

- झंगहा

साल 2017-2018

10वीं में परीक्षार्थियों की संख्या - 93,483

12वीं में परीक्षार्थियों की संख्या - 76,574

10वीं व 12वीं में कुल परीक्षार्थियों की संख्या - 1,70,057

नोट - पिछले साल के अपेक्षा इस बार 7,601 परीक्षार्थी ज्यादा हैं

परीक्षा केंद्रों की संख्या जेल सहित - 198

वर्जन
डिप्टी सीएम ने बोर्ड परीक्षार्थियों की संख्या व परीक्षा केंद्रों की सूची देने के लिए कहा है. लिस्ट बन चुकी है. जल्द यूपी एसटीएफ को सूची भेज दी जाएगी.

- ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह भदौरिया, डीआईओएस, गोरखपुर