- विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के गुर्गो पर गायब कराने का आरोप

- मददगार शशि सिंह चार दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड पर

- सीबीआई ने कराया आमना-सामना, पूछे सवाल

एसआईटी के दौरे से पहले हुआ लापता
पीडि़ता के चाचा ने दैनिक जागरण आई नेक्स्ट से फोन पर बातचीत में बताया कि बीती 3 अप्रैल को पीडि़ता के पिता के संग हुई मारपीट के मामले में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने थाने में तहरीर दी थी कि असल में यह मारपीट उन लोगों से नहीं की बल्कि, महेश सिंह व माखी गांव में ही रहने वाले उनके चचेरे भाई के बीच हुई थी. उन्होंने बताया कि विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की मंशा थी कि इस मारपीट को उनके व चचेरे भाई के बीच साबित कर मारपीट में मारे गए पीडि़ता के पिता की हत्या के आरोप से साफ निकल जाएं. पीडि़ता के चाचा ने बताया कि तहरीर देने के बाद जब एसआईटी टीम उन्नाव में मौका मुआयना करने पहुंची, इससे पहले उनका चचेरा भाई रहस्यमय हालात में लापता हो गया. चार दिन गुजर जाने के बाद भी वह वापस घर नहीं लौटा. उन्होंने आशंका जताई कि दबाव बनाने के लिये विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के गुर्गो ने ही उसे गायब किया है. पीडि़ता के चाचा ने बताया कि उन्होंने अपने चाचा को गुमशुदगी दर्ज कराने के लिये कहा है.

शशि सिंह चार दिन की पुलिस रिमांड पर
शनिवार को सीबीआई द्वारा अरेस्ट की गई आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की मददगार शशि सिंह को सीबीआई ने रविवार दोपहर रिमांड मजिस्ट्रेट एसीजेएम 7 सुनील कुमार की कोर्ट में पेश किया. सीबीआइ की ओर से शशि सिंह की दस दिन की रिमांड की अर्जी दी गई थी. अदालत ने चार दिन की रिमांड मंजूर की है. शशि सिंह की ओर से सीबीआइ कोर्ट में कोई वकील भी नहीं मौजूद था. रिमांड मजिस्ट्रेट ने कहा है कि पुलिस कस्टडी रिमांड अवधि रविवार शाम छह बजे से 19 अप्रैल सुबह दस बजे तक प्रभावी होगी. शनिवार को रिमांड मजिस्ट्रेट सुनील कुमार ने ही विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की भी सात दिन की रिमांड दी थी.

माखी गांव से शशि सिंह अरेस्ट
गौरतलब है कि शनिवार दोपहर माखी गांव से शशि सिंह को अरेस्ट किया गया था. पीडि़ता ने शशि पर आरोप लगाया है कि वह उसे नौकरी दिलाने का झांसा देकर विधायक के घर ले गई थी. वहां उसके साथ विधायक ने रेप किया. शशि विधायक और पीडि़ता के घर के करीब रहती हैं. शशि का पति सेना में हैं. वह अपने दो बेटों को काम दिलाने के लिए विधायक से मिलती रहती थी. सीबीआई ने उक्त मामले में तीन मुकदमे दर्ज किए. विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को सीबीआइ पहले ही गिरफ्तार कर अदालत में पेश कर चुकी है, जहां से 21 अप्रैल तक विधायक को रिमांड पर ले लिया गया था.

विधायक और मददगार का सामना
सीबीआई सूत्रों के मुताबिक, रविवार को सीबीआई ने आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर व उसकी मददगार शशि सिंह को आमने-सामने बिठाकर पूछताछ की. गौरतलब है कि इससे पहले उन दोनों से टीम ने अलग-अलग बयान दर्ज किये थे. इन बयानों पर उन दोनों को सामने बिठाकर क्रॉस क्वेश्चन किये गए.

दोनों को उन्नाव ले जाएगी टीम
सीबीआई सूत्रों ने बताया कि शशि सिंह की पुलिस कस्टडी रिमांड मंजूर होने के बाद उसे और आरोपी विधायक सेंगर को लेकर सीबीआई टीम सोमवार को उन्नाव जाएगी. जहां माखी गांव में उन दोनों को पीडि़ता द्वारा बताए गए घटनास्थल पर ले जाया जाएगा और उनसे घटना के संबंध में मौके पर पूछताछ की जाएगी.