-वीडियो फुटेज से हो रही उपद्रवियों की पहचान, अब तक 21 लोग हुए अरेस्ट

क्चङ्गन्क्त्र/क्कन्ञ्जहृन्: शुक्रवार को नंदन गांव पहुंचे सीएम के स्वागत में ग्रामीण काफी उत्साहित थे. रंगीन बैलून और फूल-माला के साथ महिलाएं सीएम के स्वागत के लिए खड़ी थीं. इसी बीच पथराव से सब गड़बड़ हो गया. पुलिस में विडियो फुटेज के आधार पर 17 पुरुष और 4 महिलाओं को अरेस्ट किया है. जांच के लिए बनी दो सदस्यीय टीम में पटना के कमिश्नर आनंद किशोर और आईजी नैयर हसनैन खां शनिवार की सुबह नंदन गांव पहुंचे. टीम ने बारी-बारी से सभी स्थानीय अधिकारियों और पुलिस जवानों से बात की, जिनकी ड्यूटी घटनास्थल के आस-पास थी. जांच टीम ने पथराव के सभी कारणों को बारीकी से खंगाला जा रहा है. अधिकारियों ने घटनास्थल का मुआयना किया और आस-पास के खेतों की भी जांच की. बाद में नंदन पंचायत भवन में बैठक कर ग्रामीणों से बात की. कमिश्नर आनंद किशोर ने कहा कि पूरे मामले की सूक्ष्मस्तरीय जांच की जा रही है.

बक्सर से लौटी जांच टीम

उन्होंने कहा कि यह पता लगाया जा रहा है कि पथराव कहीं साजिश या षड्यंत्र का हिस्सा तो नहीं. कई बातें सामने आ रही है. जिससे पूरा मामला पूर्व नियोजित प्रतीत हो रहा है. वीडियो फुटेज एवं फोटोग्राफ के आधार पर बहुत से लोगों को चिन्हित किया गया है. इस मामले में कई लोगों की गिरफ्तारी भी हो चुकी है. जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कठोर कानूनी कार्रवाई की जाएगी. इस दौरान डीएम अर¨वद कुमार वर्मा, एसपी राकेश कुमार, एसडीओ प्रमोद कुमार सहित कई प्रशासनिक अधिकारी शामिल रहे. कमिश्नर और आइजी के साथ जिले के सभी प्रशासनिक अधिकारी शुक्रवार को डुमरांव में ही रहे. आनंद किशोर ने जांच पूरी कर बक्सर लौट गए. इसके बाद फिर अधिकारियों के आने की चर्चा होने लगी.