क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : एक साल के बेटे को छोड़ माता-पिता ने इस दुनिया को अलविदा कर दिया. शुक्रवार को दंपती का फंदे से लटका शव मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई. जगन्नाथपुर थाना एरिया के क्वार्टर संख्या सीडी 396 की यह घटना है. मौके पर पहुंचकर पुलिस ने पति दिलीप कुमार मांझी औ पत्नी रीमा का शव कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेज दिया. मौके पर से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया गया है. पुलिस इसकी जांच कर रही है.

बंद था कमरा

शुक्रवार की सुबह क्वार्टर नंबर सीडी 396 में रहने वाले दिलीप कुमार मांझी के घर से बच्चे की रोने की आवाज आ रही थी. ऐसे में अगल-बगल में रहने वाले लोग क्वार्टर में पहुंचे तो देखा कि दरवाजा बंद है. उन्होंने काफी देर तक दरवाजा खोलने के लिए आवाज दी पर कोई रिस्पांस नहीं मिला. ऐसे में उन्हें अनहोनी की आशंका हुई और उन्होंने उनके भाई राजेश को कॉल कर इसकी जानकारी दी. राजेश मौके पर पहुंचे और बलपूर्वक दरवाजा खोला तो देखा कि उनके भाई-भाभी की डेड बॉडी फंदे से लटक रही थी, जबकि उनका एक साल का बेटा वहीं बैठे रो रहा था.

सुसाइड या मौत, हो रही है छानबीन

जगन्नाथपुर पुलिस का कहना है कि दिलीप और रीमा ने सुसाइड किया है अथवा उनकी मौत की वजहें कुछ और है, इसकी हर एंगल से छानबीन की जा रही है. पुलिस ने घटनास्थल से एक सुसाइड नोट बरामद किया है, उसे भी वैरीफाई किया जा रहा है कि उसे दंपती ने लिखा है या किसी दूसरे ने लिखकर छोड़ दिया है. इसकी तहकीकात कर जल्द ही इस मामले का खुलासा कर लिया जाएगा. इधर, भाई राजेश का कहना है कि पति-पत्नी के बीच किसी तरह का कोई विवाद नहीं था. ऐसे में उन्होंने क्यों सुसाइड किया समझ में नहीं आ रहा है.

क्या लिखा है सुसाइड नोट

'बेटा सॉरी, आई लव यू. मुझे माफ कर देना. हमारे पास और कोई उपाय नहीं है. हम हमेशा के लिए तुमको छोड़कर जा रहे हैं. लेकिन, हम हमेशा तुम्हारे साथ रहेंगे. तुम अच्छे से रहना. तुम्हारे नाना-नानी के पास रहना. हमारी आखिर इच्छा को पूरी करना. माफ करना. सब कोई हो सके तो हमें माफ करना. जो पैसा पांच लाख मिलेगा, उसमें 1.20 लाख पढ़ाई में देना और जो पैसा मिलेगा उसे बैंक में पढ़-लिखकर ले लेना. अच्छा से रहना. सबको इज्जत देना और प्यार करना. आई लव यू बेटा.'