एग्जाम दिया नहीं और यूनिवर्सिटी ने कर दिया पास

By: Inextlive | Publish Date: Sun 13-Aug-2017 07:41:08
A- A+

RANCHI: रांची यूनिवर्सिटी ने एक और अनोखे कारनामे को अंजाम दिया है। यूनिवर्सिटी के पीजी जूलॉजी डिपार्टमेंट की छात्रा वर्तिका (नाम बदला हुआ) ने सेमेस्टर वन की परीक्षा दी ही नहीं और उसे पास कर दिया गया। उसे इकोलॉजिकल थ्योरीज एंड एप्लीकेशंस की परीक्षा में पास कर दिया गया है। छात्रा ने जब अपना रिजल्ट देखा तो वह हैरान रह गई। क्योंकि जिस दिन उसकी परीक्षा थी, उसी दिन भ् मार्च को उसकी शादी होने के कारण वह परीक्षा में नहीं बैठ पाई थी। गौरतलब हो कि पीजी जूलॉजी के सेमेस्टर वन की परीक्षा फरवरी में शुरू हुई थी। इसका रिजल्ट जुलाई में आया.

इवैल्यूएशन में हुई गड़बड़ी

इस बाबत जूलॉजी डिपार्टमेंट के एचओडी डॉ बी मुखर्जी ने बताया इवैल्यूशन के दौरान गलती से छात्रा का मा‌र्क्स चढ़ा दिया गया होगा। वहीं कुलपति डॉ रमेश कुमार पांडेय ने कहा कि छात्रा के बिना परीक्षा दिए पास होने की जानकारी मिली है। इसकी जांच की जा रही है। ऐसे तथ्य सामने आने से विश्वसनीयता पर सवाल उठ रहे हैं। इसकी जांच कराकर दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

मुझे जो मा‌र्क्स मिले उसे कैंसल करें (बॉक्स)

जुलाई में जब पीजी सेमेस्टर वन का रिजल्ट घोषित हुआ तो खुद को पास देखकर वर्तिका हैरान हो गई। इसके बाद उसने क्ख् अगस्त को एग्जामिनेशन कंट्रोलर को एक चिट्ठी लिखी और कहा कि विवाह के कारण वह एक पेपर की परीक्षा में अब्सेंट रही। उसने बताया कि पांच मार्च को उसकी शादी थी और इसी वजह से वह परीक्षा नहीं दे पाई।

बॉक्स का मैटर

पॉलिटिकल साइंस के स्टूडेंट को मिले तीन मा‌र्क्सशीट

यूनिवर्सिटी के पीजी राजनीतिशास्त्र विभाग में शुक्रवार दो छात्रों को तीन- तीन अंकपत्र और एक छात्र को दो अंकपत्र मिले। मामले का खुलासा तब हुआ जब पॉलिटिकल सेमेस्टर वन का स्टूडेंट अभिषेक चावड़ा अपनी मा‌र्क्सशीट लेने गया। उसे तीन अंकपत्र मिले। जबकि उसके दोस्त अमन कुमार को भी तीन अंकपत्र मिले। तीसरे स्टूडेंट गुंजा गाड़ी को दो अंक पत्र मिले। इससे छात्र परेशान रहे.

वर्जन-

पीजी जूलॉजी की छात्रा के बिना परीक्षा दिये पास होने की जांच होगी। इसमें जो भी दोषी पाए जाएंगे, उनपर कार्रवाई की जाएगी.

- डॉ रमेश कुमार पांडेय, वीसी, आरयू

inextlive from Ranchi News Desk