योगी आदित्‍यनाथ सहित देश के सिंगल स्‍टेटस वाले सीएम
योगी आदित्‍यनाथ (45)
19 मार्च 2017 को यूपी के सीएम बने योगी आदित्‍यनाथ गोरखपुर के प्रसिद्ध गोरखनाथ मंदिर के महंत हैं। 1998 से लगातार वह भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर गोरखपुर लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्‍व कर रहे हैं। 2014 लोकसभा चुनाव में यहीं से वह सांसद भी चुने गए थे। इसी के साथ ही वह हिंदू युवा वाहिनी के संस्‍थापक भी रहे हैं। इसी के साथ इनकी सबसे बड़ी खास बात ये है कि वह अब यूपी के सिंगल स्‍टेटस वाले सीएम बन गए हैं।


योगी आदित्‍यनाथ सहित देश के सिंगल स्‍टेटस वाले सीएम
मनोहर लाल खट्टर (62)
मनोहर लाल खट्टर हरियाणा राज्य के मुख्यमंत्री हैं। 26 अक्टूबर 2014 को उन्होंने हरियाणा के 10वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की। बता दें कि मनोहर लाल खट्टर हरियाणा के ऐसे पहले मुख्यमंत्री हैं जो गैर जाट समुदाय से आते हैं। 18 साल बाद वे इस पद के पहले गैर जाट नेता हैं। इसी के साथ वे भारतीय जनता पार्टी के सदस्य और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक भी रह चुके हैं। आखिर में ये बताना जरूरी होगा कि ये भी सिंगल स्‍टेटस वाले सीएम ग्रुप में शामिल हैं।


योगी आदित्‍यनाथ सहित देश के सिंगल स्‍टेटस वाले सीएम
सर्वानन्द सोनोवाल (54)
सर्बानंद सोनोवाल असम के 14वें मुख्यमंत्री हैं। वे भारत की सोलहवीं लोकसभा के सांसद हैं। 2014 के चुनावों में इन्‍होंने असम की लखीमपुर सीट से भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर चुनाव जीता। ये भी अविवाहित मुख्‍यमंत्रियों की लिस्‍ट में शामिल हैं। 


योगी आदित्‍यनाथ सहित देश के सिंगल स्‍टेटस वाले सीएम
नवीन पटनायक (70)
नवीन पटनायक भारतीय राज्य ओडिशा के 14वें और वर्तमान मुख्यमंत्री हैं। बता दें कि ओडिशा में इन्‍होंने लगातार चौथी बार मुख्यमंत्री पद को संभाला है। इसी के साथ वह वो बीजू जनता दल (बीजद) के संस्थापक और वो लेखक भी हैं। नवीन सरीखे अविवाहित राजनीतिज्ञ जैकलीन ओनासिस, मिक जैगर और अन्य हस्तियों से दोस्ती के लिए भी जाने जाते हैं।


योगी आदित्‍यनाथ सहित देश के सिंगल स्‍टेटस वाले सीएम
ममता बनर्जी (62)
पश्चिम बंगाल की 62 वर्षीय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी अविवाहित मुख्‍यमंत्रियों के क्रम में शामिल हैं। वह राजनैतिक दल तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख हैं। इनके बारे में सबसे रोचक बात ये है कि इनके ज्‍यादातर अनुयायी इन्हें दीदी कहकर बुलाना पसंद करते हैं। बात करें इनकी ताकत की तो अपना लक्ष्य हासिल करने के लिए इन्‍होंने हमेशा सार्वजनिक रैलियो और धरने जैसे हथियारों का सहारा लिया है।

Interesting News inextlive from Interesting News Desk

Interesting News inextlive from Interesting News Desk