allahabad@inext.co.in
ALLAHABAD: सरकारी नौकरी दिलाने में नाम पर जालसाजों ने किसान जटाशंकर यादव को लाखों रुपए का चुना लगा दिया. बेटे को नौकरी नहीं मिलने पर जटाशंकर ने पैसे वापस मांगे तो उसे जान से मारने की धमकी मिली. उसने आरोपियों राज इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर व मैनेजर जीत पाल और एजेंट विक्रम पाल के खिलाफ जार्जटाउन थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है.

पंचायती राज विभाग में नौकरी
हंडिया थाना क्षेत्र के किहुनी टोला निवासी जटाशंकर का बेटा सुरेंद्र बेरोजगार है. आरोप है कि करीब तीन साल पहले अल्लापुर में तिगना मेजा के विक्रम पाल से उसकी मुलाकात हुई. बातचीत में विक्रम ने बताया कि उसकी कंपनी सूबे के विभिन्न सरकारी विभागों में आउट सोर्सिग के जरिए मैन पॉवर उपलब्ध कराती है. उसने जटाशंकर से भी बेटे को पंचायती राज विभाग में नौकरी दिलाने की बात कहते हुए डेढ़ से दो लाख रुपये मांगे. कुछ दिनों बाद विक्रम ने जटाशंकर से कहा कि एक डिग्री कॉलेज में बेटे को चपरासी की नौकरी दिलवा देगा. इसके बाद उन्हें बेटे के साथ लखनऊ के राजाजी पुरम, जलापुर स्थित उप कार्यालय सिंह ट्रेडर्स ले गया. वहां से लौटने पर जटाशंकर ने डायरेक्टर जीतपाल के निवास कमला नेहरू रोड जाकर डेढ़ लाख रुपये दिए. जटाशंकर ने यह भी आरोप लगाया है कि बेटे से ऑनलाइन फार्म भरवाया गया और फर्जी इंटरव्यू भी लिया. कई माह बीतने के बाद भी नौकरी नहीं मिली तो जटाशंकर ने पैसा मांगना शुरू किया. इस पर जान से मारने की धमकी दी गई.

कंपनी का हेड ऑफिस अल्लापुर में है. मामले की गंभीरता को देखते हुए एसएसपी ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच का आदेश दिया. मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है.
संतोष शर्मा, इंस्पेक्टर, जार्जटाउन थाना