क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : सिटी के एक लाख लोगों को अगस्त माह में राशन नहीं मिला है. जिला प्रशासन की छानबीन में यह ख्रुलासा हुआ है कि कई डीलरों का वितरण खाता माह अंत तक खुला ही नहीं है. कहीं इंटरनेट की प्राब्लम तो कहीं ई-पॉश मशीन बनी परेशानी. कहीं आधार इंट्री तो कहीं डीलरों की साजिश, लेकिन लोगों को राशन से वंचित रहना पड़ा है. डीएसओ नरेन्द्र गुप्ता ने ऐसे डीलर्स को चिन्हित करते हुए उन्हें दो दिनों के भीतर राशन वितरण का टास्क दिया है. इधर राशन नहीं मिलने से लोगों में खासा रोष है और वे डीसी से मिलकर पूरे मामले की जानकारी देने के मूड में हैं.

नहीं दे रहे राशन, लगवा रहे अंगुठा

खाद्य आपूर्ति विभाग के दवाब के बाद डीलरों के खिलाफ लगातार ये शिकायतें आ रही हैं कि वे लाभुकों को बिना राशन का वितरण किए उनका अंगुठा लगवा रहे हैं. उन्हें यह आश्वासन दिया जा रहा है कि अगले माह तक राशन दिया जाएगा. लाभुकों में इस बात को लेकर भी आक्रोश है कि जब उन्हें राशन दिया ही नहीं जा रहा तो फिर अंगुठा क्यों लगवाया जा रहा है.

कई डीलर्स का बेहतर प्रदर्शन

सिटी के कई पीडीएस डीलर्स ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए करीब 90 प्रतिशत खाद्यान का वितरण कर दिया है. इन डीलरों ने घर घर जाकर राशन पहुंचाया साथ ही इस बात का भी ध्यान रखा कि कोई भी लाभुक राशन लेने से वंचित न रह जाए. जिला प्रशासन ऐसे डीलर्स को सम्मानित भी करेगी.

सितंबर के चावल वितरण पर भी ग्रहण

अगस्त माह का वितरण पूरी तरह नहीं हो पाने के कारण सितम्बर का चावल वितरित ही नहीं हो पा रहा है. सभी डीलर्स को 25 अगस्त तक की डेडलाइन दे दी गयी थी, ताकि इसके बाद सितम्बर माह का चावल का वितरण किया जा सके.

वर्जन

हमारे 90 प्रतिशत डीलर्स बेहतर और सराहनीय काम कर रहे हैं. उन्होंने घर- घर जाकर लाभुकों को राशन दिया है. कुछ डीलर्स की शिकायत आ रही है. इनके निबंधन को रद किया जा रहा है.

नरेन्द्र कुमार गुप्ता

डीएसओ, रांची