सितंबर माह को राष्ट्रीय पोषण माह किया गया है घोषित

134 स्कूलों के करीब 15 हजार बच्चों को योजना का मिल सकेगा लाभ

Meerut. बच्चों को कुपोषण से बचाने के लिए शिक्षा विभाग स्कूलों में हाथ धोने की व्यवस्था कराएगा. इसके लिए प्राथमिकता के आधार पर जनपद के 10 प्रतिशत स्कूलों को चिंहित कर उनमें यह व्यवस्था होगी. वहीं बच्चों, किशोरियों और महिलाओं को कुपोषण से बचाने के लिए सेमिनार भी होंगे. पोषण मिशन के तहत सितंबर माह को राष्ट्रीय पोषण माह घोषित किया गया है.

बच्चों को िमलेगा लाभ

इस योजना के तहत जनपद के तकरीबन 134 स्कूलों के करीब 15 हजार बच्चों इस योजना का लाभ मिल सकेगा. बच्चों के लिए जहां स्कूलों में हाथ धोने की व्यवस्था की जाएगी, वहीं उन्हें हेल्थ व हाइजीन के बारे में भी जानकारी दी जाएगी. यहां बच्चों के लिए हैंड वॉश और सेनेटाइजर उपलब्ध कराया जाएगा. मेरठ जनपद में बेसिक शिक्षा विभाग के अंतर्गत 1342 स्कूल आते हैं.

दिलाई जाएगी शपथ

पोषण माह के तहत जहां बच्चों को हाथ धोने की तकनीक के बारे में बताया जाएगा वहीं इसके फायदों के बारे में भी पूरी जानकारी देनी होगी. वहीं बच्चों को पोषण शपथ भी दिलाई जाएगी. बच्चों के साथ उनके अभिभावकों और शिक्षकों को भी पोषण, स्तनपान, कंप्लीट मील, टीकाकरण आदि के बारे में बताना होगा .

ये भी होंगे कार्यक्रम

आंगनबाड़ी केंद्रों और स्कूलों में बचपन दिवस मनाया जाएगा.

आरआई के तहत सब सेंटर पर पोषण मेला

ये भी होंगे

आंगनबाड़ी केंद्रों पर मनाया जाएगा ममता दिवस

टीकाकरण की जानकारी

ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस

शिशु व बाल पोषण महत्व पर चर्चा

किशोरियों एवं महिलाओं के लिए पोषण, स्वास्थ्य व स्वच्छता की जानकारी

लाडली दिवस कार्यक्रम

किशोरियों के लिए शिक्षा का महत्व एवं विवाह की सही आयु की जानकारी

पोषण माह के तहत स्कूलों में अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित कराए जा रहे हैं. शासन के निर्देशानुसार स्कूलों मे हाथ धोने की व्यवस्था करने के लिए स्कूलों को चिन्हित किया जा रहा है.

एसके गिरि, एबीएसए, मेरठ