-एनजीटी के आदेश के बाद प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने की कार्रवाई, रकम भरने को एक हफ्ते का दिया समय

-आईआईटी, बीएचयू और एमएनआईटी की टीम के निरीक्षण में मिला था मानक से अधिक क्रोमियम फ्लो

kanpur@inext.co.in

KANPUR : गंगा को साफ करने में बाधक बन चुकी टेनरीज द्वारा मानक से अधिक क्रोमियम प्रवाहित किया जा रहा है. इसको लेकर एनजीटी ने अपनी निगाहें टेढ़ी कर दी हैं. एनजीटी ने दूसरी बार 14 टेनरीज पर जुर्माना लगाने की कार्रवाई की है. इसमें ज्यादातर टेनरीज जाजमऊ और एक टेनरी मंधना की है. 2 जून को एनजीटी के निर्देश पर आईआईटी, बीएचयू और एमएनआईटी की टीम ने टेनरीज को औचक निरीक्षण किया था, जिसमें टेनरी द्वारा मानक के विपरित क्रोमियम अधिक मात्रा में पाया गया. सभी टेनरीज को पूर्व में कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया था, लेकिन जवाब न देने पर एनजीटी ने सभी के खिलाफ जुर्माने की कार्रवाई करते हुए 10 टेनरी पर 2,50,000 और 4 टेनरी पर 2,00,000 रुपए का जुर्माना लगाया है.

---------

इन टेनरीज में क्रोमियम ज्यादा

जाजमऊ स्थित सुलेमान टैनिंग इंडस्ट्रीज, सल्लन इंटरप्राइजेज, अखलाक टैनर्स, आरबी ट्रेडर्स, शाहिद टेनरी, अमान टैनर्स, इशां लेदर फिनिशर्स, यूनिवर्सल टैनिंग इंडस्ट्रीज, रमशा टैनर्स और इरशाद स्पिरिट व‌र्क्स पर 25,000 रुपए का जुर्माना लगाया गया. सभी टेनरीज में ईटीपी आउटलेट में मानक के वितरित क्रोमियम की मात्रा अधिक पाई गई. इसी प्रकार इस्लाम टैनर्स, मांडे अपटेल्स प्राइवेट लिमिटेड, मंधना, न्यू लाइट टैनिंग इंडस्ट्रिज और कयूम लेदर्स पर 50,000 रुपए का जुर्माना एनजीटी ने लगाया है. उ.प्र. प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुख्य पर्यावरण अधिकारी टीयू खान ने बताया कि एनजीटी ने कार्रवाई करते हुए सभी को 1 हफ्ते में जुर्माना भरने के निर्देश दिए हैं.

--------

फाइल फैक्ट

50 हजार रुपए फाइन चार टेनरियों पर लगाया गया

25 हजार का जुर्माना 10 टेनरीज पर टीम ने लगाया

4.5 लाख रुपए टोटल जुर्माना लगाया पीसीबी ने

7 का समय दिया जुर्माना भरने के लिए मालिकों को