allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: बैंक के सिक्योरिटी सिस्टम और पुलिस की गश्त को खुला चैंलेज देकर चोरों ने लाखों का माल आराम से पार कर दिया. तीन दिन की बैंक बंदी का फायदा उठाकर चोरों ने न सिर्फ इस बड़ी वारदात का प्लान बनाया बल्कि उसे अंजाम भी दे दिया. मंगलवार को इस घटना का खुलासा तब हुआ जब बैंक खुला. भीतर का नजारा देखकर बैंक अफसर सन्नाटे में आ गये. सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे आईजी और एसएसपी भी अपराधियों की प्रोफेशनल कार्यशैली देखकर दंग थे. देर शाम तक बैंक अफसर यह बता पाने की स्थिति में नहीं थे कि लॉकर से कुल कितने का माल चोरों ने पार किया है. बैंक की तरफ से लॉकर होल्डर्स को सूचना दे दी गयी है और सामान का डिटेल मांगा गया है जो उसमें रखा हुआ था. घटना के खुलासे के लिए एसटीएफ के साथ पुलिस की पांच टीमों को लगाया गया है.

16

कस्टमर्स के लॉकर काटकर निकाल ले गये सामान

03

दिन लगातार बंद थे बैंक. मंगलवार को खुली घटना

05

टीमें लगायी गयीं घटना के खुलासे के लिए

02

खिड़की काटकर घुसे थे चोर

बैंक में घुसने के लिए चोरों ने बिल्डिंग के पीछे दीवार में बनी खिड़की का सहारा लिया. खिड़की की जाली और उसमें लगे लोहे के एंगल को काटकर चोर बैंक के अंदर घुसे. शातिर चोरों ने बैंक के अंदर ठीक सामने लगे सीसीटीवी कैमरे को तोड़ दिया ताकि कैमरे में उनका चेहरा कैद न हो. चोरों ने बैंक में लगे स्मोक डिडेक्टर को भी तोड़कर नष्ट कर दिया. इसके बाद स्ट्रॉंग रूम के गेट का लॉक गैस कटर से काटकर स्ट्रांग रूम में प्रवेश कर गए. कुल 16 लॉकर तोड़े और उसमें रखे लाखों रुपए के सामान को पार कर दिया. मंगलवार को बैंक खुलने पर कर्मचारियों को घटना की जानकारी हुई तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी. आईजी रमित शर्मा, एसएसपी आकाश कुलहरि, एसपी सिटी सिद्धार्थ मीणा, एडिशनल एसपी समेत फारेंसिक एक्सप‌र्ट्स व क्राइम ब्रांच की टीम के साथ एसटीएफ भी मौके पर पहुंच गई. मामले की गंभीरता को देखते टीम व अधिकारियों ने घंटों छानबीन की.


देर शाम तक जांच में जुटी रही टीमें

सिविल लाइंस जैसे एरिया में यूको बैंक में हुई डकैती की जंाच में जुटी देर शाम तक अलग-अलग एंगल पर जांच में जुटी रही. इस दौरान पुलिस ने बैंक के सभी स्टाफ की भी जानकारी एकत्र की. इसके साथ ही बैंक में लगे सिक्योरिटी सिस्टम आदि के बारे में भी पड़ताल शुरू कर दी. देर शाम तक पुलिस को कोई सफलता नहीं मिली.


वारदात को किसी बड़े गिरोह ने अंजाम दिया है. बैंक के किसी कर्मचारी की मिली भगत भी हो सकती है. एसटीएफ और क्राइम ब्रांच को लगाया गया है. सीसीटीवी से कुछ क्लू मिले हैं. पांच टीमें जांच में जुटी हैं.

आकाश कुलहरि, एसएसपी