गाजा में हिंसक झड़प
गाजा (आईएएनएस)। यरूशलम में अमेरिकी दूतावास के उद्घाटन से पहले सीमा पर हिंसक झड़प के दौरान सोमवार को इजराइल के सैनिकों ने गाजा में कम से कम 18 फिलिस्तीनियों की गोली मारकर हत्या कर दी है। हमास द्वारा संचालित स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस मामलें में एक बयान जारी करते हुए बताया कि हमले में बाकी लोगों के साथ एक 14 वर्षीय बच्चे की भी मौत हुई है और 900 से अधिक लोग घायल हैं। बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुतबिक, अमेरिकी दूतावास के विरोध-प्रदर्शन के दौरान फिलिस्तीनियों ने जमकर पत्थर बाजी की, वहीं उन्हें शांत करने के लिए इजराइली सेना ने स्निपर्स का इस्तेमाल किया।

कई दंगाई एकत्रित
इजराइली सेना ने बताया कि दंगाई करीब 10,000 की संख्या में एकत्रित हुए थे और इनकी सेना जमकर हिंसा कर रही थीं। एक रिपोर्ट के मुताबिक सैकड़ों लोगों पर बंदूकें चलाई गईं जबकि कई लोगों पर शर्पेल से हमला किया गया और कुछ लोग धूएं और लाठी डंडे से चोटिल हए। बता दें कि प्रदर्शनकारियों पर गोलीबारी करने के बाद दुनिया भर के आलोचनाओं का शिकार हो रहे इजरायल ने कहा कि उसे अपनी सीमाओं की सुरक्षा का पूरा अधिकार है और वो किसी भी कीमत पर उसकी सीमा में किसी प्रदर्शनकारी को घुसने नहीं देगा।

इस वजह से भड़की हिंसा
गौरतलब है कि अमेरिका द्वारा अपना दूतावास तेल अवीव से इजराइल की राजधानी यरुशलम शिफ्ट करने की योजना पर फिलिस्तीनियों द्वारा विरोध प्रदर्शन देखने को मिल रहा है। इस मामले में अल कायदा आतंकी अयमान-अल-जवाहिरी ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी करते हए अमरीका को जेहाद की धमकी भी दे दी है। उसने कहा है कि अमेरिका का यरुशलम में अपना दूतावास शिफ्ट करना इस बात का प्रूफ है कि फिलिस्तीन के साथ बातचीत और शांति की कोशिशें नाकाम हो चुकी हैं। अब मुस्लिमों को अमेरिका के खिलाफ जिहाद करना चाहिए।

International News inextlive from World News Desk