- डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरीडोर के तहत सरकारी उपक्रम करेंगे सबसे ज्यादा निवेश, एमएसएमई सेक्टर को मिलेगा फायदा

- 2 हजार करोड़ से ज्यादा के निवेश प्रस्ताव एचएएल और आर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड के, प्राइवेट सेक्टर भी आगे आया

- हजारों युवाओं के लिए खुलेंगे रोजगार के नए अवसर, शहर के औद्योगिक स्वरूप को भी मिलेगी संजीवनी

kanpur@inext.co.in

KANPUR: यूपी में बन रहे डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरीडोर का केंद्र कानपुर ही बनेगा. यह बात सैटरडे को पुख्ता हो गई जब अलीगढ़ में सीएम और रक्षामंत्री के सामने ही कानपुर में बड़े निवेश की घोषणा सरकारी उपक्रमों व प्राइवेट कंपनीज ने की. समारोह में कुल 3756 करोड़ के निवेश प्रस्तावों पर सहमति बनी है, जिसमें 2,275 करोड़ के औद्योगिक निवेश के प्रस्ताव कानपुर के लिए हैं. इस निवेश से शहर में हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा. डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरीडोर के लिए सबसे ज्यादा निवेश दो सरकारी उपक्रम करेंगे. इसमें से एचएएल 200 करोड़ और आर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड 1075 करोड़ का निवेश करेगा. इस निवेश का सबसे ज्यादा फायदा सिटी के एमएसएमई सेक्टर को मिलेगा क्योंकि नई नीति के मुताबिक इन सरकारी उपक्रमों को अपने निर्माण में 50 फीसदी की हिस्सेदारी एमएसएमई सेक्टर को देनी पड़ेगी.

ऑर्डिनेंस फैक्ट्रीज होंगी अपग्रेड

कानपुर में स्थित आर्डिनेंस फैक्ट्रीज में भी डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरीडोर बनने की वजह से काफी निवेश होगा. इसकी घोषणा खुद आर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड के चेयरमैन पीके श्रीवास्तव ने की है. 1075 करोड़ की लागत से पैराशूट निर्माण, धनुष तोप की निर्माण क्षमता को बढ़ाया जाएगा. इसके साथ ही टी-92 व टी-72 टैंकों के निर्माण समेत कई दूसरे उत्पादों का भी निर्माण किया जाएगा. एचएएल की ट्रांसपोर्ट एयरक्रॉफ्ट डिवीजन में 200 करोड़ का निवेश किया जाएगा. जिसकी पुष्टि एचएएल के सीईओ सुवर्णा राजू ने की है.

एमकेयू करेगी 800 करोड़ का निवेश

डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरीडोर में प्राइवेट सेक्टर में सबसे ज्यादा निवेश एमकेयू लिमिटेड करेगी. इसका ज्यादातर निवेश कानपुर में होगा. जहां 150 करोड़ की लागत से कंपनी अपनी आर्मर फैसिलिटी को अपग्रेड व एक्सपेंड करेगी. 150 करोड़ से एक स्माल ऑ‌र्म्स वेपन मैनुफैक्चरिंग यूनिट स्थापित करेगी व 500 करोड़ की लागत से मीडियम व लार्ज कैलिबर के आ‌र्म्स मैनुफैक्चरिंग के लिए प्रोजेक्ट लगाएगी. 100 करोड़ रुपए कपंनी नोएडा में इलेक्ट्रो ऑटिक्स की नई यूनिट लगाने में खर्च करेगी.

आ‌र्म्ड व्हेकिल्स पर होगा काम

डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरीडोर के निर्माण के तहत कानपुर में भारत फोर्ज भी निवेश करेगी. आ‌र्म्ड व्हेकिल्स के निर्माण के लिए भारत फोर्ज की ओर से 200 करोड़ के निवेश पर शासन से सहमति बनी है. इसके लिए लगने वाली यूनिटें न सिर्फ हायर लेवल पर स्किल्ड मैनपॉवर को आकर्षित करेंगी बल्कि कानपुर को डिफेंस इक्यूपमेंट मैन्युफैक्चरिंग का बड़ा हब बन जाएगा.

-------------------

कानपुर में 'डिफेंस' का सेटअप

- 5 आर्डिनेंस फैक्ट्रीज, एक सीओडी, डीएसएमआरडीई

- 300 एमएसएमई से जुड़ी सप्लॉयर यूनिटें कानपुर में

-10 हजार लोगों को इन सप्लॉयर यूनिटों से मिलेगा रोजगार

-----------------------

वर्जन-

आर्डिनेंस फैक्ट्रीज और एचएएल में निवेश का सीधा फायदा कानपुर के एमएसएमई सेक्टर को मिलेगा. इसके अलावा डिफेंस में प्राइवेट सेक्टर से जो निवेश शहर में आ रहा है उससे भी सिटी में काफी रोजगार बढ़ेगा. निवेश प्रस्ताव पर काम आगे बढ़ने से 10 हजार रोजगार के नए अवसर उपलब्ध होंगे.

- सुनील वैश्य, नेशनल प्रेसीडेंट, इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन