छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र ट्ठ देश भर के मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए सेंट्रल बोर्ड फॉर सेकेंडरी एजुकेशन का नेशनल एंट्रेस कम एलिजिबिलिटी टेस्ट यानी नीट रविवार को संपन्न हो गया. स्टूडेंट के अनुसार सबसे ज्यादा फिजिक्स सब्जेक्ट ने उन्हें परेशान किया. न्यूमेरिकल प्रश्न ज्यादा आने की वजह से स्टूडेंट ने काफी सवाल छोड़ दिये. कैमेस्ट्री एनसीईआरटी बेस्ड होने की वजह से छात्रों को ज्यादा कठिन नहीं लगी. लेकिन बायोलोजी में छात्रों को कई सवाल ट्रिकी लगे. तीन घंटे की इस प्रवेश परीक्षा में 180 प्रश्न पूछे गए.

सुरक्षा के थे कड़े इंतजाम

नीट परीक्षा आयोजित करने के लिए राजधानी रांची में 17 केन्द्र बनाये गये थे. इन केन्द्रों पर करीब तेरह हजार परीक्षार्थी शामिल हुए. केन्द्र में सुबह साढ़े सात बजे से ही परीक्षार्थियों का प्रवेश शुरू हो गया, क्योंकि केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने परीक्षा को लेकर इस बार भी परीक्षार्थियों की कड़ी सुरक्षा जांच करने का निर्देश जारी किया था. एग्जाम कदाचार मुक्त रहे इसके लिए परीक्षार्थियों के लिए ड्रेस कोड भी निर्धारित किया गया था. राजधानी रांची के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर परीक्षार्थियों के पहुंचने पर कड़ी जांच की गई. गोगल्स, पर्स, घड़ी, रिंग, इयर रिंग, नोज पीन, चेन, नेकलेस, बेल्ट, मौली धागा, हेयर क्लिप, टोपी आदि पहनकर आने पर अभ्यर्थियों की एंट्री पर रोक थी. हालांकि, पहले से सूचना मिल जाने की वजह से ज्यादातर स्टूडेंट्स ने यह सब नहीं पहने थे. परीक्षार्थियों को सिर्फ एडमिट कार्ड और एक कलर फोटो लाने के लिए कहा गया था.

इन केन्द्रों पर हुई परीक्षा

आर्मी पब्लिक स्कूल, ब्रिजफोर्ड, डीएवी कपिलदेव, कैंब्रियन,डीएवी हेहल, डीएवी नंदराज, डीएवी गांधीनगर, डीएवी धुर्वा, डीएवी बरियातू, डीपीएस, जेवीएम श्यामली, केरलि, गुरुनानक हायर सेकेंडरी स्कूल, केंद्रीय विद्यालय डोरंडा, केवि नंबर वन एचईसी, लोयला कान्वेंट बूटी मोड़, सुरेंद्रनाथ सेंटेनरी शामिल है.