15 अगस्त से जनपद को घोषित होना था नो ट्रिपिंग जोन

अब सितंबर माह में जनपद होगा नो ट्रिपिंग जोन घोषित

Meerut . शहरवासियों को अभी नो ट्रिपिंग जोन का लाभ उठाने के लिए कुछ और अधिक इंतजार करना होगा. पहले जुलाई फिर 15 अगस्त तक जनपद को नो ट्रिपिंग जोन बनाने में जुटे विद्युत विभाग ने अब सितंबर माह तक समय को बढ़ा दिया है. हालांकि विद्युत विभाग के आंकड़ों के अनुसार 80 प्रतिशत काम पूरा किया जा चुका है, लेकिन बावजूद इसके शहर से अधिक देहात क्षेत्रों में लाइन अपडेशन का काम चल रहा है.

शहर से लेकर गांव तक होगा रोशन

नो ट्रिपिंग जोन के तहत शहरी क्षेत्रों में इंटीग्रेटिड पॉवर डेवलेपमेंट स्कीम और ग्रामीण क्षेत्रों में पं दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत बिजली की लाइनों से लेकर विद्युत पोल, ट्रांसफार्मर और बिजली घरों की क्षमता वृद्धि समेत रिपेयरिंग का काम किया जा रहा है. इस क्रम में विद्युत का सबसे अधिक जोर शहरी क्षेत्रों में लाइन को दुरुस्त करने और ग्रामीण क्षेत्रों में घर घर तक बिजली पहुंचने में है. इसके लिए विभाग द्वारा लगातार काम किया जा रहा है लेकिन बावजूद इसके काम अधर में है.

नो ट्रिपिंग जोन का अपडेट-

शहरी क्षेत्र में-

- 62 नए सब स्टेशन प्रस्तावित

- 62 में से 51 सब स्टेशन का काम हुआ पूरा

- 11 बिजली घर का काम जल्द होगा पूरा

- 33 केवीए के 47 सब स्टेशन की क्षमता वृद्धि का काम पूरा

- शहर में 250 केवीए के करीब 1304 नए ट्रांसफार्मर लगाए जा चुके हैं.

देहात क्षेत्रों मे-

- 33 केवीए के 48 नए बिजली घरों निर्माण

- 24 बिजलीघरों के निर्माण का काम जल्द होगा पूरा

- 92 सब स्टेशनों में से करीब 85 की क्षमता वृद्धि का काम पूरा

नो ट्रिपिंग जोन के तहत 15 अगस्त तक गाजियाबाद और नोएडा ट्रिपिंग फ्री घोषित होंगे. मेरठ को सितंबर माह तक नो ट्रिपिंग जोन घोषित किया जाएगा. इसके लिए करीब 80 प्रतिशत काम किया जा चुका है.

- भागवत यादव, चीफ इंजीनियर