-घर में घुसकर लाखों की कीमत का सामान लेकर फरार

-बढ़ी वारदातों से खफा एडीजी पहुंचे सीबीगंज

BAREILLY: सीबीगंज में 24 घंटे में दूसरी बड़ी वारदात को अंजाम देकर बदमाशों ने पुलिस को खुला चैलेंज दे दिया है. एक वारदात के बाद सभी थानों को अलर्ट जारी किया गया था, लेकिन सीबीगंज थाना पुलिस ही अलर्ट नहीं हो सकी. संडे रात सीबीगंज के मथुरापुर में बदमाश दो मंजिला मकान में घर में घुस गए और पहली मंजिल पर कमरे का ताला तोड़कर 2 लाख 30 हजार रुपए नकद, ज्वैलरी व अन्य सामान लेकर फरार हो गए. ताबड़तोड़ वारदातों से एडीजी स्वयं सीबीगंज पहुंचे और दोनों वारदात स्थलों पर जाकर पूछताछ की. एडीजी ने पुलिस को जल्द से जल्द दोनों वारदातों को खुलासा करने का अल्टीमेटम दिया है.

मकान खरीदने के लिए रखी नकदी

मूलरूप से बिसौली बदायूं के रहने वाले अवधेश गुप्ता मथुरापुर सीबीगंज में ससुराल में रहते हैं. उनके ससुर शिव कुमार गुप्ता कैंफर फैक्ट्री में जॉब करते हैं और वहीं रहते हैं. वह चंडीगढ़ में प्राइवेट जॉब करते हैं. उन्हें घर बनवाने के लिए जमीन की रजिस्ट्री करानी है, जिसके लिए उन्होंने घर में 2 लाख 30 हजार घर पर रखे थे. संडे रात करीब साढ़े 11 बजे अवधेश गुप्ता, पत्‍‌नी मीना, के साथ छत पर सो रहे थे. निचली मंजिल में उनकी सास रजनी सो रही थीं. पड़ोस के कमरे में रमेश और शीला सो रहे थे. रात में चोर दीवार के सहारे पहली मंजिल पर चढ़ गए और कमरे का ताला तोड़कर अंदर घुस गए. उसके बाद अंदर अलमारी के लॉक तोड़कर नकदी व 4 तोला सोना-चांदी की ज्वैलरी लेकर फरार हो गए. रात में करीब ढाई बजे बारिश शुरू हुई तो वह नीचे आए तो देखा कि कमरे का ताला टूटा हुआ था. जिसके बाद उन्होंने यूपी 100 को सूचना दी.

एडीजी के पहुंचने पर मचा हड़कंप

24 घंटे में सीबीगंज एरिया में दूसरी वारदात पर एडीजी प्रेम प्रकाश का पारा चढ़ गया. उन्होंने सुबह परसाखेड़ा में इंक फैक्ट्री में डकैती की वारदात स्थल के निरीक्षण के लिए बोला. वायरलेस पर मेसेज चलते ही हड़कंप मच गया. इसी दौरान एसआई सबसे पहले उन्हें चोरी की वारदात पर लेकर पहुंच गए. एडीजी ने बोला कि यह तो फैक्ट्री नहीं है. जिस पर बताया गया कि यहां चोरी हुई है. इस पर एडीजी ने शिवकुमार गुप्ता से बात की और उसके बाद फैक्ट्री में पहुंचे. यहां पर अरुण कुमार से भी पूछताछ की. एडीजी ने दोनों पीडि़तों को आश्वासन दिया कि पुलिस की टीमें लगी हैं और जल्द वारदात के खुलासे के निर्देश दिए हैं. वहीं पड़ोस में किराये के कमरे में अमित सो रहा था, लेकिन उसे भनक नहीं लगी. उसके कमरे में हथौड़ी पेचकस भी मिला है. पुलिस पूरे मामले की गंभीरता से जांच कर रही है.

फैक्ट्री में पड़ा था 7 लाख का डाका

परसाखेड़ा इंडस्ट्रियल एरिया में जिस डकैती को सभी सिर्फ एलईडी, डीवीआर की लूट मान रहे थे, उसमें कहीं अधिक की लूट हुई है. डकैत फैक्ट्री से करीब 7 लाख रुपए तक का माल लूटकर ले गए है. फैक्ट्री मालिक अरुण कुमार ने बताया कि मंडे को उन्होंने पूरी फैक्ट्री की चेकिंग की तो पाया कि करीब 70 हजार रुपए की नकदी फैक्ट्री में रखी थी. इसके अलावा एलईडी, मॉनीटर, डीवीआर, समेत करीब 7 लाख का माल गायब है. वह इस लिस्ट को पुलिस को सौंपेंगे. वहीं फैक्ट्री चौकीदार छोटेलाल मिश्रा की हालत में सुधार हुआ है लेकिन अभी भी होश नहीं आया है. होश में आने के बाद ही पता चल सकेगा कि फैक्ट्री में कितने डकैत घुसे थे और किस तरह से वारदात को अंजाम दिया गया.

--------------------------

आउटर के घरों और फैक्ट्रियों में अलर्ट

-घुमंतू जाति के डकैत करते हैं जानलेवा हमला

सीबीगंज में डकैती की वारदात से पूरे जिले के लोगों के चिंता की की बात हो गई है. ऐसे घरों में रहने वाले लोग अलर्ट हो जाएं, क्योंकि जिस तरह से परसाखेड़ा फैक्ट्री में वारदात को अंजाम दिया गया है, उस तरह के गैंग बारिश या फिर सर्दियों में अंजाम देते हैं. पिछले साल 16 सितंबर से 27 सितंबर तक घुमंतू जाति के बदमाशों ने ताबड़तोड़ डकैती की 11 वारदातों को अंजाम दिया था. यह गैंग आउटर एरिया के घरों और फैक्ट्रियों पर नजर रखता है. बिल्डिंग में किसी भी तरह से एंट्री कर लेते हैं और फिर लूटपाट शुरू कर देते हैं. यदि बदमाशों को बिल्डिंग में कोई भी सदस्य नजर आ जाता है या फिर आहट होने पर कोई जगता है तो उसपर लोहे की रॉड, डंडा या भारी वस्तु से वार कर देते हैं और मरणासन्न हालत में छोड़कर फरार हो जाते हैं.

सभी थानों को जारी किया अलर्ट

परसाखेड़ा में वारदात के बाद एसएसपी ने सभी थाना प्रभारियों को अलर्ट जारी किया गया है. सभी को निर्देश दिए हैं कि वह अपने थाना के ऐसे एरिया चिन्हित कर लें, जहां घर या बिल्डिंग आउटर में हैं. संडे रात थानों की पुलिस गश्त पर भी निकलीं थीं, लेकिन सीबीगंज में वारदात हो गई. एडीजी ने भी आउटर में वारदात करने वाले गैंग पर नजर रखने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने हाल में जेल से छूटे चोर-डकैतों के वेरिफिकेशन के निर्देश दिए हैं. लोकल गैंग के साथ घुमंतू बदमाशों की भी धरपकड़ के निर्देश दिए हैं.

पब्लिक इन बातों का रखे ध्यान

-घर आउटर में है तो इसे पूरी तरह से बंद रखें

-घर की कोई भी खिड़की-दरवाजे न खोलकर रखें

-घर के आसपास कोई सीढ़ी या रस्सी, व डंडा न छोड़ें

-घर के अंदर जीना या सीढ़ी के रास्ते को भी बंद रखें

-एरिया के बीट कांस्टेबल व हल्का इंचार्ज से भी संपर्क में रहें

लास्ट ईयर हुई थीं 11 वारदातें

16 सितंबर-नवाबगंज में टीचर समेत दो घरों में डकैती, टीचर का मर्डर

19 सितंबर-देवरनियां के दो घरों में डकैती, विरोध पर मारपीट

21 सितंबर-भुता के दो घरों में बदमाशों ने की लूट

23 सितंबर-फरीदपुर और फतेहगंज पूर्वी में हुई लूट

25 सितंबर-किला नई बस्ती के दो घरों में डकैती

27 सितंबर-भोजीपुरा में घर में घुसकर लूट की कोशिश

-सीबीगंज में लगातार वारदातों के बाद पुलिस को जल्द से जल्द खुलासे के निर्देश दिए हैं. आउटर में बने घरों और फैक्ट्रियों की निगरानी करने के निर्देश दिए हैं. घुमंतू जाति के बदमाशों की धरपकड़ के भी निर्देश दिए हैं.

प्रेम प्रकाश, एडीजी जोन