मुजफ्फरनगर  (पीटीआई)। सावन के महीने में हर साल शिव भक्तों का तांता हरिद्वार के लिए कांवड़ यात्रा में निकालता है। एेसे में उत्तर प्रदेश में कावंड यात्रियों की सुरक्षा आैर सुविधा के विशेष इंतजाम किए गए हैं। हाल ही में कांवड़ यात्रा को लेकर मुजफ्फरनगर और हरिद्वार के पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के बीच बैठक हुर्इ  थी। इसमें उत्तराखंड सीमा को लेकर चर्चा हुर्इ थी। इस संबंध में जानकारी देते हुए मुजफ्फरनगर जिला मजिस्ट्रेट राजीव शर्मा ने बताया कि तीर्थयात्रा मार्ग को सुरक्षित करने के लिए करीब 300 सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे।

कांवड़ यात्रा 9 अगस्त को समाप्त होगी
कैमरे संवेदनशील स्थानों में होंगे आैर तीर्थयात्रियों की हर गतिविधि पर पैनी नजर रहेंगे। इसके अलावा हरिद्वार प्रशासन के सहयोग से कांवड़ियों को जरूरी सूचनाएं दी जाएंगी।वहीं एक अधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि उत्तरी रेलवे ने कवाड़ यात्रा में तीर्थयात्रियों को हरिद्वार लाने ले जाने के लिए दो विशेष ट्रेनों की शुरुआत की है। आज से शुरू होने वाली यात्रा 9 अगस्त को समाप्त होगी। बता दें कि हर साल कावड़ तीर्थयात्री  (कनवार्य के नाम से जाना जाता है) हरिद्वार जाते हैं। वहां से गंगा जी से जल लेकर शिव जी को अर्पित करते हैं।

सौर मास श्रावण आज से आरंभ, जानिये आपकी राशि पर क्या पड़ेगा प्रभाव

बनेगा कंट्रोल रूम, एंबुलेंस में होंगे सिपाही

National News inextlive from India News Desk