- सामूहिक नकल वाले कॉलेजों के स्टूडेंट्स के 20 परसेंट मा‌र्क्स कटेंगे

- एक प्रैक्टिकल या वाइवा मिस किया तो दोबारा मिलेगा एग्जाम देने का मौका

kanpur@inext.co.in

KANPUR:

सीएसजेएम यूनिवर्सिटी ने बुधवार को 34 कॉलेजों को सामूहिक नकल कराने के मामले पर बड़ा फैसला लेकर इन कॉलेजों को ब्लैक लिस्टेड कर दिया है. वहीं परीक्षा समिति ने इन कॉलेजों के सामूहिक नकल वाले सब्जेक्ट में 20 फीसदी मा‌र्क्स काटने का फैसला कर स्टूडेंट्स को बड़ी राहत दी है. इसके अलावा एक प्रैक्टिकल या मौखिक वाइवा छूटने वालों को भी मौका दिया गया है.

ऑब्जेक्टिव का डिसीजन वीसी करेंगे

सीएसजेएम यूनिवर्सिटी की परीक्षा समिति की महत्वपूर्ण मीटिंग बुधवार को एकेडमिक सेंटर में दोपहर को शुरू हुई. जिसमें एमए में ऑब्जेक्टिव पेपर कराने पर विचार विमर्श किया गया. एग्जामनेशन कमेटी ने यह भी डिसीजन लिया कि कौन से पेपर ऑब्जेक्टिव होंगे इसका फैसला वाइस चांसलर को करने का अधिकार दे दिया गया.

दस कॉलेज नकल के आरोप से बरी

सामूहिक नकल के मामले में उड़न दस्तों ने करीब 49 कॉलेजों की रिपोर्ट यूनिवर्सिटी को दी थी. जिसमें अभी तक 5 कॉलेजों की जांच पड़ताल कराई जा रही है और दस कॉलेजों को सामूहिक नकल के आरोप से बरी कर दिया गया है, लेकिन 34 कॉलेजों पर सामूहिक नकल कराने की गाज गिरी है. इन्हें कॉली सूची में डाल दिया गया है.

20 से 25 परसेंट मॉ‌र्क्स कटेंगे

सामूहिक नकल वाले कॉलेजों के स्टूडेंट्स के उसी पेपर में 20 परसेंट मा‌र्क्स काटे जाएंगे. जिसमें कि सामूहिक नकल की रिपोर्ट यूनिवर्सिटी को मिली और जांच में आरोप सही पाए गए. यही नहीं यूनिवर्सिटी के ऐसे तीन कॉलेज हैं जो कि सेकेंड टाइम सामूहिक नकल के आरोप में धरे गए हैं. इन कॉलेजों के स्टूडेंट्स के मा‌र्क्स उसी पेपर में 25 परसेंट काटे जाएंगे जिसमें नकल की शिकायत मिली थी.

स्टूडेंट की मेल पर 200 रुपए में कापी

सीएसजेएम यूनिवर्सिटी के मू्ल्यांकन से संतुष्ट न होने वाले स्टूडेंट्स अपने सब्जेक्ट की कापी ऑनलाइन 200 रुपए फीस जमाकर खुद देख सकेंगे. स्टूडेंट्स की मेल आईडी पर कापी ऑन लाइन कर दी जाएगी. यह प्रॉसेस 15 दिन में पूरा कर लिया जाएगा. अगर स्टूडेंट्स ऑब्जेक्सन करता है तो उसका डिसीजन एक्सपर्ट से 15 दिन में करा दिया जाएगा.

बीएससी मैथ्स का वाइवा फिर होगा

इयर 2013-14 में बीएससी फाइनल इयर का एग्जाम देने वाले स्टूडेंट्स जिनका मैथ्स का वाइवा मिस हो गया था. उन स्टूडेंट्स को एक मौका और दिया जाएगा. इसमें कानपुर देहात का बाबू राम रुकमणी देवी महाविद्यालय के छात्र शामिल हैं.

ओल्ड सीक्रेट डाक्यूमेंट स्कैन होंगे

परीक्षा समिति ने यह भी निर्णय लिया है कि जो पुराने सीक्रेट डाक्यूमेंट हैं उन्हें सुरक्षित करने की बात आई. जिस पर कमेटी ने कहा कि इन दस्तावेजों को स्कैन कराकर सुरक्षित कर लिया जाए. इस काम को जितनी जल्दी हो सके पूरा कर लिया जाए.

दो स्टूडेंट्स भी सामूहिक नकल में फंसे

बाबा बैजनाथ डिग्री कॉलेज पतारा को कमेटी ने सामूहिक नकल में लिप्त पाया. अहम बात यह है कि दो स्टूडें्टस ने परीक्षा दी. दोनों की कापी चेक की गई तो एक एक शब्द हूबहू पाया गया. जिस पर कॉलेज को सामूहिक नकल के केटेगिरी में डाल दिया गया.

अब नहीं मिलेगी बी कॉपी..

सीएसजेएमयू में एग्जाम देने वाले स्टूडेट्स को एक ही कापी में पूरा एग्जाम देना होगा. स्टूडेंट्स को अब सेकेंड कापी नहीं दी जाएगी. इस बात का निर्णय बुधवार को हुई परीक्षा समिति की मीटिंग में लिया गया.

क्वैश्चन पेपर का उत्तर सीरियल दें

एग्जाम देने वाले स्टूडेंट्स को अब सीरियल से क्वैश्चन पेपर को साल्व करना होगा. अगर ऐसा नहीं किया तो स्टूडेंट्स के खिलाफ एक्शन हो सकता है. क्वैश्चन के जवाब सीरियल से न मिलने पर एग्जामनर को दिक्कत आती है. जिसकी वजह से अब कॉपी पर ही नोट लिखा होगा कि क्वैश्चन के जवाब सीरियल से छात्र दें.

इनवायरमेंटल की छूटी परीक्षा फिर होगी

इयर 2006-7 से लेकर इयर 2014-15 के बीच जिन स्टूडेंट्स ने इनवायमेंटल स्टडी का पेपर नहीं दिया है उन स्टूडेंट्स को यूनिवर्सिटी प्रशासन आखिरी मौका दे रही है. इन स्टूडेंट्स को एक बार फिर परीक्षा देने का मौका मिलेगा. बीए पार्ट वन व पार्ट टू प्राइवेट का रिजल्ट दो वीक में डिक्लेयर कर दिया जाएगा.

'यूनिवर्सिटी के करीब 34 कॉलेजों पर सामूहिक नकल के आरोप सही पाए गए हैं. इन कॉलेज के स्टूडेंट्स के 20 से 25 परसेंट मा‌र्क्स काटे जाएंगे. जिन स्टूडेंट्स का एक प्रैक्टिकल या मौखिक वाइवा मिस हो गया है उन्हें भी एक अवसर मिलेगा. इसके लिए स्टूडेंट्स को दो गुनी फीस भरनी पड़ेगी.'

राज बहादुर यादव, परीक्षा नियंत्रक सीएसजेएमयूे