- जिलाधिकारी के आदेश के बाद शहर में डीजल टैम्पों के खिलाफ चला अभियान

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW:

राजधानी में जहरीला धुआं फेंक रहे 37 टैम्पो को आरटीओ प्रवर्तन दस्ते ने शुक्रवार को पकड़ा. डीजल से चल रहे इन टैम्पो के पास परमिट बाहर के थे लेकिन फिर भी वह राजधानी की सड़कों पर दौड़ रहे थे. इन टैम्पो को बंद करा कर इन्हें जमानत ना देने की अपील भी की गई है. हालांकि टैम्पो चालकों ने बताया कि राजधानी में इस तरह के 600 से अधिक वाहन चल रहे हैं.

परमिट कैंसिल किया जाए

आरटीओ ने शुक्रवार को डीजल चलित टैम्पो के खिलाफ अभियान चलाया. जिसमें प्रवीण सिंह, नागेन्द्र वाजपेयी और अमिता वर्मा शामिल रहे. राजधानी के मटियारी, बीकेटी, मडि़यांव, आशियाना और सरोजनी नगर में यह अभियान चलाया गया. प्रवर्तन दस्ते के अधिकारियों ने बताया कि इन गाडि़यों के पास शहर में चलने का परमिट नहीं था और ये बिना फिटनेस के रोड पर दौड़ रहे थे. इन्हें पकड़ कर इनकी जमानत ना होने देने की अपील की गई है. साथ ही इन वाहनों के परमिट कैंसिल किए जाने के लिए भी लिखा गया है.

तीन साल से चल रहे थे

अधिकांश वाहन चालकों ने बताया कि वह राजधानी में पिछले तीन साल से टैम्पो चल रहे हैं. लेकिन आज तक ऐसा नहीं हुआ. ऐसे में आरटीओ ऑफिस के कर्मचारियों पर प्रश्नचिन्ह लग गया है कि आखिर इतने दिनों तक इन वाहनों को पकड़ा क्यों नहीं गया.

प्रवर्तन दस्ते का रोजाना हिसाब मंगाया जाता है. जल्द ही इस मामले में नियम और कड़े बनाए जाने पर विचार चल रहा है.

वीके सिंह, एडीशन ट्रांसपोर्ट कमिश्नर पूर्वी

उत्तर प्रदेश परिवहन विभाग