- एमएमएमयूटी में ऑर्गनाइज की गई भव्य कन्वोकेशन सेरेमनी

- गवर्नर रामनाईक के हाथों मिली 660 स्टूडेंट्स को डिग्री, गोल्ड मेडल से नवाजे गए 19

GORAKHPUR: मदन मोहन मालवीय यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी में शुक्रवार को तीसरे कन्वोकेशन का शानदार आयोजन किया गया. चीफ गेस्ट मेट्रो मैन इं. ई श्रीधरन की उपस्थिति में प्रोग्राम की अध्यक्षता कर रहे गवर्नर रामनाईक ने 660 स्टूडेंट्स को डिग्री दी. इसमें बीटेक के 373, एमटेक के 177, एमबीए के 55, एमसीए के 51, पीएचडी के 3 स्टूडेंट्स शामिल रहे. जबकि चीफ गेस्ट को इस दौरान डीएससी की उपाधि से नवाजा गया. कन्वोकेशन में 12 एमटेक, पांच बीटेक, एक एमबीए, एक एमसीए स्टूडेंट को गोल्ड मेडल से भी सम्मानित किया गया.

वीसी ने बताईं उपलब्धियां

कन्वोकेशन सेरेमनी का शुभारंभ वीसी, कुलाधिपति व चीफ गेस्ट द्वारा देवी सरस्वती व पं. मदन मोहन मालवीय के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्ज्वलन के साथ शुरू किया गया. इससे पहले दोपहर 12:20 पर कुलाधिपति विद्वतजनों की शोभा यात्रा के साथ समारोह में पहुंचे. एमएमएमयूटी वीसी प्रो. श्री निवास सिंह ने कुलाधिपति व इं. ई श्रीधरन को बुके देकर स्वागत किया. स्टूडेंट्स ने एमएमएमयूटी का कुलगीत व वंदेमातरम प्रस्तुत किया. इसके बाद वीसी ने प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत की. एमएमएमयूटी वीसी ने वर्तमान उपलब्धियों और भविष्य की तमाम परियोजनाओं का जिक्र करते हुए बताया कि यहां के 92 नियमित शिक्षिकों ने विभिन्न राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय सेमिनारों में 483 शोध पत्र, 14 किताबें, 28 बुक चैप्टर प्रकाशित कराने के साथ एक पेटेंट कराया है. उन्होंने जापान, स्पेन, पोलैंड की यूनिवर्सिटी से किए जा रहे टाईअप की चर्चा करते हुए रिसर्च फील्ड में लगातार हो रहे कामों की भी चर्चा की. साथ ही वीसी ने पुरातन के साथ नियमित संवाद बनाए रखने की भी बात की.

'यहां आना गौरव की बात'

पद्म विभूषण व मेट्रोमैन इं. ई श्रीधरन ने एमएमएमयूटी के कन्वोकेशन में शामिल होने को गौरव बताते हुए कहा कि यहां के स्टूडेंट्स ने पूरे विश्व में यूनिवर्सिटी का मान बढ़ाया है. उम्मीद है कि यह बैच भी देश और समाज के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान देगा. गवर्नर राम नाईक ने कहा कि अभी तक स्टेट की 28 यूनिवर्सिटीज में से 26 में कन्वोकेशन का आयोजन किया जा चुका है. उन्होंने स्टूडेंट्स की सफलता को रेखांकित करते हुए कहा कि कुल 660 डिग्री पाने वालों में से 27 प्रतिशत जबकि गोल्ड मेडल पाने वालों में 47 प्रतिशत छात्राएं हैं जो देश के विकास में उनकी भूमिका को दर्शा रहा है. गवर्नर ने देश व प्रदेश में हो रहे विकास कार्यो की सराहना भी की. इसके बाद स्टूडेंट्स को बारी-बारी गोल्ड मेडल प्रदान किया गया. वीसी ने कुलाधिपति व चीफ गेस्ट को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया. इस अवसर पर बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स, टीचर, यूनिवर्सिटी स्टॉफ व पैरेंटस मौजूद रहे.

बीटेक में इन्हें मिला मेडल

नाम कोर्स

शिवम भल्ला सिविल इंजीनियरिंग

सौरभ राम त्रिपाठी कंप्यूटर एंड इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी

परिधि जोशी इलेक्ट्रिक्ल

सोनम प्रजापति इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन

संदीप मोदनवाल मकैनिकल इंजीनियरिंग

नोट - शिवम भल्ला को कुलाधिपति व कुलपति स्वर्ण पदक व प्रशस्ति पत्र मिला है. बाकी सभी स्टूडेंट्स को कुलपति स्वर्ण पदक व प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया.

एमटेक में इन्होंने बिखेरी स्वर्णिम चमक

नाम कोर्स

हर्षिता सिंह इन्वायरमेंटल इंजीनियरिंग

शिखर मोहन हिल एरिया डेवलपमेंट इंजीनियरिंग

चंदन गुप्ता स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग

सिंधुसुता सेस्मिक डिजाइन एंड अर्थक्यूक इंजीनियरिंग

श्वेता वाष्र्णेम इन्फॉर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी

सोनाली पांडेय इन्फॉर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी

विनीत रंजन पॉवर इलेक्ट्रॉनिक्स एंड ड्राइव

बृजेश कुमार सिंह कंट्रोल एंड इन्स्ट्रमेंटेशन

अषिका श्रीवास्तव डिजिटल सिस्टम

सुगंध तेजस्वी कम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग

अभिषेक यादव कंप्यूटर इंटीग्रटेड मैन्यूफैक्चरिंग

प्रशांत मल्ल एनर्जी टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट

नोट- सभी स्टूडेंट्स को कुलपति स्वर्ण पदक एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया.