एक साल बाद
नेपाल की राजधानी काठमांडू में कल शाम एक बार फिर हड़कंप मच गया। यहां पर कल काठमांडू व उसकेआसपास के क्षेत्रों में आज 4.5 तीव्रता का भूकंप महसूस किया गया। ऐसे में जैसे ही लोगों को भूकंप के झटके महसूस हुए लोग घरों से बाहर निकल आए। इसके बाद देर रात तक लोग घरों से बाहर रहें। पार्कों व सड़कों पर लोग देर रात तक इसलिए रहें कि कहीं यह झटके दोबारा न आ जाएं। इन झटकों ने लोगों को एक बार फिर बीते एक साल पहले के भूकंप की याद दिला दी। पिछले साल भी अप्रैल में ही नेपाल की राजधानी काठमांडू में भूकंप आया। इसी वजह से लोग कल के झटकों से ज्‍यादा सहम गए हैं। वहीं कल के भूकंप के बारे में मौसम विभाग का कहना है कि भारतीय समयानुसार शाम छह बजकर 50 मिनट पर इसके झटके आए थे।

लोग दहशत में
वहीं इसका केंद्र नेपाल में 27.6 डिग्री उत्तरी अक्षांश और 85.2 डिग्री पूर्वी देशांतर पर दस किलोमीटर की गहराई में स्थित था। हालांकि इस हादसे में किसी तरह की कोई क्षति नही हुई है। बताते चलें कि नेपाल की राजधानी काठमांडू में पिछले वर्ष अप्रैल में ही रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 7.8 के हिसाब से भूकंप आया था। जिसके झटके भारत तक महसूस हुए थे। इस विनाशकारी भूकंप में नेपाल में करीब 9000 से अधिक लोग मारे गए थे। इतना ही नहीं यहां बड़ी संख्‍या में लोग बेघर हो गए थे। जिसके बाद अभी तक वहां का जनजीवन पूरी तरह से पटरी पर नहीं आ सका है।

inextlive from World News Desk

International News inextlive from World News Desk