मासूम की सर्जरी की जा सकती है
नई दिल्ली (पीटीआई)। मध्य प्रदेश के सतना जिले में दुष्कर्म की शिकार एक चार वर्षीय लड़की को उपचार के लिए दिल्ली भेजा गया है। मासूम को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया है। जहां उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है। अस्पताल के एक स्रोत के मुताबिक, मासूम पीड़िता को शाम 7 बजे के करीब बाल चिकित्सा सर्जरी विभाग में भर्ती कराया गया है। उसकी हालत गंभीर है और उसकी सर्जरी की जा सकती है क्योंकि उसके निजी हिस्सों में काफी गंभीर चोटें आई हैं। एम्स प्रशासन द्वारा डॉक्टरों की एक टीम मासूम बच्ची की निगरानी के लिए गठित की गई है।

23 साल का आरोपी हुआ गिरफ्तार
वहीं सतना पुलिस ने इस मामले में आरोपी 23 साल के महेन्द्र सिंह गौड़ को गिरफ्तार किया है। आरोपी महेन्द्र सिंह गौड़ ने चार साल की बच्ची को रविवार की रात अपनी हवस का शिकार बनाया था। कहा जा रहा है कि महेन्द्र सिंह गौड़ बच्ची के घर रात में गया। उस समय बच्ची के पिता कहीं किसी काम से गए थे तभी वह बच्ची को अपने साथ लेकर चला गया। इस दौरान उसने मासूम संग दुष्कर्म किया और फिर उसे घायल अवस्था में खेत में छोड़कर चला गया था। इधर परिजनों ने बच्ची की तलाश के साथ ही पुलिस को सूचना दी।बच्ची को तुरंत पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया।

मंदसाैर में आठ साल की बच्ची संग
हालांकि कुछ घंटे बाद उसे जिला अस्पताल सतना भेजा गया था।अभियुक्त के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं और यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण (पाॅक्सो) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। बता दें कि अभी हाल ही में 26 जून को मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले में दो युवकों द्वारा एक आठ वर्षीय लड़की के कथित बलात्कार की घटना सामने आई है।  इस मामले पर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा था। एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान भी गुस्से पर कंट्रोल नहीं कर पाए थे। उन्होंने  कहा था कि यह मामला बेहद ही दर्दनाक है। दरिंदे धरती पर बोझ हैं उन्हें जीने का हक बिल्‍कुल भी नहीं है।

मंदसौर में आठ साल की बच्‍ची संग निर्भया जैसा केस, सीएम बोले, 'दरिंदे धरती पर बोझ, नहीं है जीने का हक'

स्‍कूटी सवार युवती ने युवकों द्वारा स्‍कर्ट खींचे जाने का दर्द ट्वीट से क‍िया बयां, CM बोले शर्मनाक दर्ज हुआ केस

Crime News inextlive from Crime News Desk