- टीकापुर बिनगवां में क्षेत्रीय पार्क व बस स्टैंड भूप्रयोग के फेर में लटक गए थे 4400 पीएमएवाई फ्लैट

-सीटीसीपी व शासन को भेजा गया था मामला, रेजीडेंशियल भूप्रयोग भी निकलने से केडीए को राहत

KANPUR: बिनगवां के टीकापुर में भूप्रयोग का मामला सुलझ गया है. इससे टीकापुर में पीएमएवाई फ्लैट बनने का रास्ता साफ हो गया. अब केडीए ने टीकापुर में 3 से 4 हजार पीएमएवाई फ्लैट बनाने की तैयारी की है. इसके लिए लेआउट और डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाई जा रही है.

लैंड यूज में फंसा था प्रोजेक्ट

टीकापुर बिनगवां में केडीए की 16 हेक्टेयर के लगभग ग्राम समाज की जमीन है. इस जमीन को केडीए ने 4400 से अधिक पीएमएवाई फ्लैट के लिए चुना था. पर इसका भू प्रयोग क्षेत्रीय पार्क व बस स्टैंड निकल आया. इससे केडीए ने आगे की कार्रवाई रोक दी. इसके साथ ही मामला आवास एवं शहरी नियोजन विभाग और चीफ टाउन एंड कंट्री प्लानर डिपार्टमेंट लखनऊ को भेजा. केडीए वीसी सौम्या अग्रवाल ने बताया कि जांच के बाद टीकापुर की 16 में से 9 हेक्टेयर जमीन आवासीय निकली है. जिस पर हाउसिंग प्रोजेक्ट लाए जा सकते हैं. इसी जमीन पर प्रधानमंत्री आवास योजना के अ‌र्न्तगत फ्लैट बनाए जाएंगे. इसके लिए लेआउट और डीपीआर बनाया जा रहा है. इनकी संख्या 3 से 4 हजार के लगभग हो सकती है. रोड पहले से ही है, जिससे कनेक्टिविटी की प्रॉब्लम भी नहीं होगी.

दिन भर बैंक में लगी रही लाइन

पीएमएवाई फ्लैट के लिए एलॉटमेंट फॉर्म खरीदने व जमा करने वालों की भीड़ मंडे को भी बैंक के बाहर लगी रही. केडीए वीसी सौम्या अग्रवाल ने कहा कि इसी वीक ऑनलाइन सुविधा उपलब्ध करा दी जाएगी.