bareilly@inext.co.in

BAREILLY: रेलवे ने टिकटिंग व्यवस्था को भी कैशलेस करने की ओर कदम बढ़ाया है. जल्द भारत इंटरफेस फॉर मनी (भीम) और यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआइ) एप के जरिए रेलवे में रिजर्वेशन कराने पर पांच फीसद तक की छूट मिलेगी. यह छूट मूलभूत किराए पर लागू होगी. उदाहरण के तौर पर कोई मुसाफिर भीम और यूपीआई एप से कैशलेस 300 रुपए कीमत का आरक्षित टिकट लेता है तो उसके 15 रुपए कम खर्च होंगे.

अपग्रेडेशन सिस्टम का भी मिलेगा फायदा

दोनों एप से आरक्षित टिकट लेने पर एक और फायदा मिलेगा. यह होगा अपग्रेडेशन सिस्टम का. यानी, किसी शख्स ने एप से स्लीपर श्रेणी में टिकट रिजर्व कराया है. वहीं, थर्ड एसी की सीट खाली हैं और स्लीपर में वेटिंग है. ऐसे में स्लीपर श्रेणी से बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के उसे थर्ड एसी में जगह वरीयता के साथ दी जाएगी. फिर चाहे उसने स्लीपर कोच में पारंपरिक तरीके से आरक्षित टिकट लेने वाले से बाद में ही क्यों न रिजर्वेशन कराया हो. यह स्कीम निम्न से उच्च श्रेणी तक के लिए होगी.

समय, परेशानी, कैश से मुक्ति

भीम और यूपीआइ एप के जरिए रिजर्वेशन कराने पर अन्य फायदे भी हैं. रेलवे स्टेशन जाकर रिजर्वेशन कराने की हुज्जत खत्म होगी. समय भी बचेगा. वहीं, नकदी रखने से भी मुक्ति मिलेगी, जिससे जेब कटने का डर कम रहेगा. वहीं, पर्यावरण के लिए भी यह फायदेमंद होगा.

डिजिटल इंडिया बनाने के लिए रेलवे ने भीम और यूपीआइ एप के जरिए भी आरक्षित टिकट देने का फैसला लिया है. यात्री इसका जल्द फायदा उठा सकेंगे.

-विवेक शर्मा, सीनियर डीसीएम, मुरादाबाद मंडल