- बीए में खाली रह गई सीटें और सब्जेक्ट के कॉम्बिनेशन

-सेंट्रल यूनिवर्सिटी में एकेडमिक सेशन 2018-19 में प्रवेश के लिए 03 जुलाई को हुई थी घोषणा, 39 दिन तक चली प्रवेश प्रक्रिया

vikash.gupta@inext.co.in

ALLAHABAD: आखिरकार जिसका डर था, वैसा ही हुआ. सेंट्रल यूनिवर्सिटी इलाहाबाद को न्यू एकेडमिक सेशन 2018-19 के लिए अंडर ग्रेजुएट के दाखिले में देरी का खामियाजा भुगतना पड़ गया. 10 अगस्त को अंडर ग्रेजुएट में दाखिले के अंतिम दिन बीए में तकरीबन 500 सीटें खाली रह गई. इसके अलावा कई सारे सब्जेक्ट के कॉम्बिनेशन भी नहीं भरे जा सके और दाखिला बंद करना पड़ा. बीए में करीब 500 सीटों के खाली रह जाने का अनुमान दैनिक जागरण-आई नेक्स्ट ने 02 अगस्त को प्रकाशित अंक में बीए में खाली बची 500 सीटों को भरना मुश्किल शीर्षक से प्रकाशित खबर में पहले ही कर दिया था. वहीं अब दाखिले की समाप्ति के साथ ही इस खबर पर भी मुहर लग गई.

10 अगस्त तक थी मियाद

बता दें कि दैनिक जागरण-आई नेक्स्ट 02 जुलाई को एकेडमिक सेशन की शुरूआत के दिन से ही एयू में दाखिले की समूची प्रक्रिया से जुड़ी खबरों का प्रकाशन कॅरियर की बात कैम्पेन के तहत कर रहा है. इस दौरान पाठकों को न केवल दाखिले की जानकारी दी गई. बल्कि लगातार कई खबरों के माध्यम से दाखिले की खामियों को भी उजागर किया गया. इसके बाद एयू के वाइस चांसलर प्रो. आरएल हांगलू को लम्बे समय से जारी दाखिले की प्रक्रिया के लिए 10 अगस्त तक की मियाद तय की गई.

अंतिम दिन 80 ने लिया प्रवेश

मालूम हो कि एयू में बीए की सीटों की कुल संख्या 3680 है और सब्जेक्ट के कॉम्बिनेशन 100 है. शुक्रवार को बीए में पीएच, स्पोर्ट, इम्पलाई वार्ड, टीचर्स वार्ड और विदेशी छात्रों के कोटे में कुल 80 प्रवेश लिए गए. इसके अलावा एलएलबी, एलएलएम और बीकॉम की खाली सीटों पर भी एडमिशन लिया गया है.

बीए की 400 से 500 के बीच सीटें खाली रह गई हैं. बीए में सब्जेक्ट के 100 कॉम्बिनेशन में सभी अच्छे काम्बिनेशन फुल हो चुके थे. ऐसे में सभी 500 सीटें भर पाना मुश्किल था. अब प्रवेश भवन पर एडमिशन समाप्त हो गया है.

-प्रो. एचके शर्मा,

चेयरमैन, बीए प्रवेश