RANCHI: साउथ इस्टर्न जोन के रांची रेल डिवीजन में माल ढुलाई से 60 परसेंट रेवेन्यू का इजाफा हुआ है. पिछले साल 219.63 करोड़ की तुलना में इस साल 351.38 करोड़ रुपए की आमदनी हुई है. वहीं, कॉस्ट कटिंग करते हुए भी रांची डिवीजन ने अच्छी सेविंग की है. ये बातें रांची डिवीजन के डीआरएम वीके गुप्ता ने कहीं. सोमवार को वह एनुअल रिपोर्ट जारी कर रहे थे. श्री गुप्ता ने कहा कि रांची डिवीजन अब आत्मनिर्भर बन चुका है. डिवीजन बनने के बाद यह पहला मौका है जब रांची डिवीजन की इनकम भी बढ़ी है और डेवलपमेंट के लिए सेंट्रल से पैसे मांगने की जरूरत भी नहीं पड़ी. मौके पर एडीआरएम वन विजय कुमार, एडीआरएम 2 अजीत सिंह यादव, सीनियर डीसीएम एमआर आचार्या, सीनियर डीओएम नीरज कुमार भी मौजूद थे.

ये होंगे काम

-रांची स्टेशन में होगी सेकेंड एंट्री

-मुरी और हटिया में बनेगा फुटओवर ब्रिज

-हटिया स्टेशन पर एसी डोरमेट्री

-हटिया में स्पो‌र्ट्स हॉस्टल

-तुलिन और कीता स्टेशन पर प्लेटफार्म

-रांची में अंडरग्राउंड टैंक का निर्माण

-हटिया में लगेंगे सीसीटीवी कैमरे

-हटिया-पटना-हटिया व रांची-हावड़ा को किया जाएगा अपग्रेड

-स्वर्ण प्रोजेक्ट के तहत रांची-नई दिल्ली राजधानी भी होगी अपग्रेड