छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र : नैतिक तरीके से व्यापार करने और उसे प्रोत्साहित करने वाली विश्वस्तरीय संस्था एथिस्फेयर इंस्टीट्यूट ने वर्ष 2018 के लिए टाटा स्टील को विश्व की मोस्ट एथिकल कंपनी के नाते उसे चयन किया. मेटल्स, मिनरल्स और माइनिंग की श्रेणी में टाटा स्टील को सर्वाधिक नैतिक कंपनी का यह सम्मान छठवीं बार मिलेगा.

135 कंपनियों को सम्मान

2018 में 23 देशों की कुल 135 कंपनियों को सम्मानित किया गया. सोमवार को विजेताओं के नाम घोषित किए गए. 13 मार्च को पुरस्कार दिया जाएगा. इससे पहले एथिस्फेयर इंस्टीट्यूट ने 2012, 2013, 2015, 2016 और 2017 में टाटा स्टील को इस अवार्ड से सम्मानित किया है. सर्वाधिक नैतिक कंपनी का यह सम्मान मिलने पर टाटा स्टील के ग्लोबल एमडी सह सीइओ सह प्रबंध निदेशक टीवी नरेंद्रन ने कहा कि छठी बार यह सम्मान मिलना गौरव की बात है. यह सम्मान हमें लीडरशिप की विरासत को कायम रखने की याद दिलाता है जो हमारे व्यापार दर्शन में अंतर्निहित है.

इस आधार पर कंपनी का होता है चयन (बॉक्स)

व‌र्ल्ड मोस्ट एथिकल कंपनी के लिए मूल्यांकन एथिस्फेयर इंस्टीट्यूट के एथिक्स फ्रेमवर्क पर आधारित होता है जिसे विशेषज्ञों की सलाह से तैयार किया गया है. इसमें एथिक्स एंड कम्प्लाएंस प्रोग्राम 35 फीसद कारपोरेट सिटीजनशिप एंड रिस्पांसिबिलिटी, 20 फीसद कल्चर ऑफ एथिक्स, 20 फीसद गवनर्ेंस, 15 फीसद लीडरशिप इनोवेशन और रेपुटेशन, 10 फीसद पर अंक दिए जाते हैं.