- यूनिवर्सिटी की सभी इंजीनियरिंग ब्रांच में अब 120 सीटों पर मिलेगा एडमिशन, नए सेशन से 120 सीटों पर एमबीए में भी प्रवेश

- सीटें बढ़ाने के प्रपोजल पर एचबीटीयू की एडमिशन कमेटी ने लगाई फाइनल मुहर, सभी कोर्सेस की तैयार की जा रही है डीपीआर

kanpur@inext.co.in

KANPUR: एचबीटीयू से इंजीनियरिंग करने का सपना देख रहे स्टूडेंट्स के लिए अच्छी खबर है. देश की इस प्रेस्टीजियस इंजीनियरिंग यूनिवर्सिटी में बीटेक, एमबीए और एमसीए को मिलाकर 772 सीटें बढ़ा दी गई हैं. जिससे एचबीटीयू में टोटल सीटें 478 से बढ़कर लगभग 1250 हो गई हैं. नए एकेडमिक सेशन से बढ़ी हुई सीटों पर एडमिशन दिया जाएगा. आईटी, सिविल और इलेक्ट्रिकल में तो सीटें बढ़ाकर चार गुना कर दी गई हैं. इन सभी ब्रांच में अब 120 सीटों पर एडमिशन मिलेगा. 10 जनवरी को हुई एडमिशन कमेटी की मीटिंग में सीटें बढ़ाने के प्रस्ताव पर फाइनल मुहर लगा दी गई है. अब सभी कोर्सेस की डीपीआर शासन को भेजी जाएगी. वहीं औपचारिकता के लिए एआईसीटीई को भी प्रपोजल भेजा जाएगा.

---------

478 टोटल सीटों पर अभी तक दिया जाता है एडमिशन

772 सीटें और बढ़ाई गई हैं, एमबीए व एमसीए में भी

4 गुना कर दी गई हैं आईटी, सिविल व इलेक्ट्रिकल की सीटें

30 से बढ़ाकर 45 सीटें की गई फूड, ऑयल व प्लास्टिक में

120 सीटों पर प्रवेश मिलेगा इंजीनियिरिंग की सभी ब्रांच में

1250 के लगभग हो गई हैं अब यूनिवर्सिटी में कुल सीटें

----------------

एचबीटीयू के इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग के प्रोफेसर व रजिस्ट्रार डॉ. मनोज कुमार शुक्ला ने बताया कि टेक्निकल यूनिवर्सिटी की सभी इंजीनियरिंग ब्रांच की सीटों की संख्या 120 कर दी गई है. न्यू एकेडमिक सेशन में टेक्निकल यूनिवर्सिटी में एमबीए समेत 772 बढ़ी हुई सीटों पर एडमिशन स्टूडेंट्स को दिया जाएगा. अहम बात यह है कि बायोकेमिकल इंजीनियरिंग व लेदर टेक्नोलॉजी की ब्रांच की सीटों में कोई इजाफा नहीं किया गया है.

ब्रांच पहले अब

इलेक्ट्रिकल इंजी. 33 120

इलेक्ट्रानिक्स इंजी. 45 120

मैकेनिकल इंजी. 60 120

सिविल इंजी. 30 120

केमिकल इंजी. 50 120

इन्फार्मेशन टेक्नो. 30 120

सीएस इंजी. 60 120

पेंट टेक्नोलॉजी 30 45

आयल टेक्नो. 30 45

फूड टेक्नो. 30 45

प्लास्टिक टेक्नो. 30 45

बायोकेमि. इंजी. 30 30

लेदर टेक्नो. 20 20

एमसीए 60 120

एमबीए 00 120

वर्जन

यूनिवर्सिटी बनने के बाद अब इंजीनियरिंग की सभी ब्रांच की सीटें 120 कर दी गई हैं. एमबीए भी पहली बार यूनिवर्सिटी में शुरू होगा जिसमें 120 सीटों पर एडमिशन दिया जाएगा. एमबीए की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट बन रही है. एआईसीटीई से अप्रूवल बाद में ले लिया जाएगा.

प्रो. नरेन्द्र बहादुर सिंह, वाइस चांसलर एचबीटीयू